Wed. Feb 19th, 2020

बिना किसी भेदभाव के सर्वांगीण विकास की लकीर खींचेंगे : हेमंत

1 min read

झारखंड के हित में हर तरह की कुर्बानी को तैयार : शिबू सोरेन

कुमार प्रभात

दुमका : झामुमो के 41 वां झारखंड दिवस पर दुमका के एतिहासिक गांधी मैदान में सभा को संबोधित करते हुए झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष सह मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि राज्य में मौजूदा महागठबंधन की सरकार के खिलाफ साजिश रची जा रही है ताकि यह सरकार चल न सके। लेकिन ऐसी साजिशों से सरकार की सेहत पर कोई असर नही पड़नेवाला है। उन्होंने कहा कि यह सरकार बिना किसी भेदभाव के सर्वांगीण विकास की लकीर खींचेंगी।

उन्होंने कहा कि यह जनता की सरकार है और सिर्फ मैं नहीं बल्कि हर लोग यहां के सीएम है। राज्य के हर नौजवानों के साथ साथ हर आदमी के कंधे पर जिम्मेवारी है कि इस राज्य को कैसे सजाना और संवारना है। सीएम ने कहा कि राज्य में आदिवासियों के अधिकारों को समाप्त करने का प्रयास किया जा रहा है। अपने अधिकारों के लिए झारखण्ड की जनता को संघर्ष करना होगा और यहां की जनता पंचायत से लेकर जिला तक मान सम्मान के साथ अपना अधिकार लेगी।

हमें चुनौतियों को अवसर में बदलना है और इसकी संकल्प लेने की जरूरत है। सीएम हेमंत सोरेन ने उमड़ी जनसमूह को आह्वान करते हुए कहा कि राज्य के खजाने पर झारखंडियों का अधिकार होगा और अधिकार के लिए संघर्ष करना होगा। कुछ लोग साजिश के तहत देश के सामाजिक सौहार्द को बिगाड़ने में लगे हुए है। जगह जगह पर हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई और जाति-धर्म पर आंदोलन हो रहे है। इन आंदोलनों का कोई मतलब नहीं है।

उन्होंने कहा कि किसी तरह की लंबित भुगतान करने के मामले में सीधे तौर पर अधिकारी नपेंगे। भ्रष्टाचार किसी सूरत में बर्दाश्त नही की जायेगी। हर चेहरे पर मुस्कान लाना हमारी सरकार की प्राथमिकता है।

इस मौके पर पार्टी सुप्रीमो शिबू सोरेन ने कहा कि झारखंड को लूटने की इजाजत किसी को नहीं है। झामुमो ने संघर्ष कर राज्य लिया है। संघर्ष करना झामुमो जानता है और पार्टी के कार्यकर्ता आज भी झारखंड के हित में हर तरह की कुर्बानी देने को तैयार हैं। झामुमो ने अलग राज्य के लिए आंदोलन किया है। हम जल, जंगल और जमीन पर हमला स्वीकार नहीं करेंगे।

उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि झारखंड की अस्मिता को बचाने के लिए हर कुबार्नी के लिए तैयार रहें। उन्होंने कहा कि झामुमो का इतिहास ही संघर्ष से जुड़ा है। जल, जंगल और जमीन हमारा है। इसकी रक्षा भी हमें ही करनी है। शिबू सोरेन को सुनने दूर दराज से आये ग्रामीण देर रात तक ठंड में गांधी मैदान में डटे रहे।

पार्टी के वरिष्ठ नेता स्टीफन मराण्डी ने कहा कि हम खतयानी रैयत को असली झारखंडी मानते हंै। मसानजोर के 144 गांव के विस्थापितों को उनको हक दिलाएंगे। जामा विधायक सीता सोरेन ने उपराजधानी दुमका में एक साल के अंदर स्वास्थ व्यवस्था दुरुस्त करने की मांग करते हुए कहा कि किसी को जांच और इलाज के लिए बाहर नहीं जाना पड़े सरकार ऐसी व्यवस्था करें। सभा को मंत्री जोबा मांझी, जगरनाथ महतो, विधायक नलिन सोरेन, लोबिन हेम्ब्रम, सांसद विजय हांसदा सहित झामुमो के अन्य प्रमुख नेताओं ने संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)