Wed. May 27th, 2020

बीसीसीआई अध्यक्ष गांगुली को पीछे छोड़ेंगे विराट कोहली – भारत न्यूजीलैंड टेस्ट सिरीज

गांगुली के 7212 टेस्ट रनों को पीछे छोड़ने के लिए 11 रनों की जरूरत
इशांत शर्मा के पास 300 टेस्ट विकेट पूरा करने का मौका

नयी दिल्ली  : भारतीय कप्तान विराट कोहली न्यूजीलैंड के खिलाफ 21 फरवरी से वेलिंगटन में शुरू हो रही दो मैचों की टेस्ट सिरीज में पूर्व भारतीय कप्तान और मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली सहित कई दिग्गजों को पीछे छोड़ देंगे। मौजूदा समय की रन मशीन विराट अब तक 84 टेस्ट मैचों में 54.97 के औसत से 7207 रन बना चुके हैं और वह गांगुली को पीछे छोड़ देंगे। गांगुली ने अपने करियर में 113 टेस्ट मैचों में 42.17 के औसत से 7212 रन बनाये हैं। गांगुली को पीछे छोड़ने के लिए विराट को सिर्फ 11 रन की जरुरत है। विराट के पास इस सिरीज में गांगुली ही नहीं कई अन्य दिग्गजों को पीछे छोड़ने का मौका रहेगा।

वेस्ट इंडीज के क्रिस गेल (7214) को पीछे छोड़ने के लिए विराट को सिर्फ 13 रन की जरुरत है। आॅस्ट्रेलिया के स्टीवन स्मिथ (7227) को पीछे छोड़ने के लिए 26 रन, ऑस्ट्रेलिया के ही डेविड वार्नर (7244) को पीछे छोड़ने के लिए 43, इंग्लैंड के वाली हेमंड (7249) को पीछे छोड़ने के लिए 48 रन और दक्षिण अफ्रीका के गैरी कर्स्टन (7289) को पीछे छोड़ने के लिए 88 रन की जरूरत है।

ओपनर मयंक अग्रवाल को टेस्ट क्रिकेट में 1000 रन पूरे करने के लिए मात्र 128 रन की जरूरत है। मयंक अब तक नौ टेस्ट मैचों में 67.07 के औसत से 872 रन बना चुके है। आॅलराउंडर रवींद्र जडेजा इस सीरीज में दो टेस्ट खेलते ही अपने 50 टेस्ट पूरे कर लेंगे और साथ ही टेस्ट में 2000 रन पूरे करने के लिए 156 रन की जरुरत है। टेस्ट बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा यदि इस सिरीज में जबरदस्त फॉर्म दिखाते है तो उनके पास 6000 रन पूरे करने का मौका रहेगा। पुजारा ने अब तक 75 टेस्ट मैचों में 49.48 के औसत से 5740 रन बनाये है और उन्हें 260 रन की जरुरत है।

गेंदबाजी में तेज गेंदबाज इशांत शर्मा के पास 300 विकेट पूरे करने का मौका रहेगा। इशांत ने गत फरवरी को बेंगलुरु में फिटनेस टेस्ट पास कर लिया था और उम्मीद है कि वह पहले टेस्ट में जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के साथ भारतीय तेज गेंदबाजी का भार संभालेंगे। इशांत ने अब तक 96 टेस्ट मैचों में 32.68 के औसत से 292 विकेट लिए है और 300 विकेट पूरे करने से वह आठ विकेट दूर है।

भारतीय आॅफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के पास भी कुछ दिग्गजों से आगे निकलने का मौका रहेगा। अश्विन ने 70 टेस्टों में 362 विकेट लिए है जबकि पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इमरान खान ने 88 टेस्टों में 362 विकेट और न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान डेनियल वेटोरी ने 113 टेस्टों में 362 विकेट लिए है। सिरीज में एक विकेट लेते ही अश्विन इन दोनों गेंदबाजों से आगे निकल जायेंगे।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)