Sun. Aug 9th, 2020

उद्धव ठाकरे सरकार ने केंद्र से मांगी 10 हजार करोड़ की आर्थिक मदद

मुंबई : महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार ने सूबे में बिजली क्षेत्र में लॉकडाउन की वजह उत्पन्न समस्या से निपटने के लिए केंद्र सरकार से 10 हजार करोड़ की आर्थिक मदद मांगी है। इस संबध में महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री नितिन राऊत ने केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह को पत्र लिखा है।

नितिन राऊत ने शुक्रवार को पत्रकारों को बताया कि कोरोना की वजह से सूबे में तीन महीने से लगातार लॉकडाउन जारी है। इससे राज्य में उर्जा विभाग संकट के दौर से गुजर रहा है। राऊत ने कहा कि राज्य में ऊर्जा विभाग को उद्योग क्षेत्र व व्यावसायिक बिजली उपभोक्ताओं से 60 फीसदी राजस्व प्राप्त होता है। राज्य सरकार घरेलू व कृषि उपभोक्ताओं को रियायती दर पर बिजली की आपूर्ति करती है।

राज्य में ऊर्जा विभाग बिजली खरीद कर लोगों को आपूर्ति करती है। पिछले तीन महीने से बिजली उपभोक्ताओं की ओर बिजली बिलों की अदायगी नहीं की गई है। ऊर्जा विभाग को बिजली कंपनियों को उनका पैसा नियमित अदा करना पड़ रहा है। इसके साथ ही राज्य में विभिन्न योजनाओं के लिए 38 हजार 282 करोड़ रुपये का कर्ज ऊर्जा विभाग ने लिया है। इसकी नियमित 900 करोड़ रुपये की किश्त राज्य सरकार को देनी पड़ती है।

नितिन राऊत ने कहा कि ऊर्जा विभाग इस समय आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है। इसलिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से चर्चा करने के बाद केंद्रीय ऊर्जा मंत्री को पत्र लिखकर आर्थिक मदद मांगी है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)