Thu. Aug 13th, 2020

ट्रम्प का चीन से कोरोनोवायरस की उत्पत्ति के बारे में सब कुछ बताने का आग्रह

1 min read

नई दिल्ली : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को चीन से आग्रह किया कि वह कोरोनोवायरस प्रकोप की उत्पत्ति के बारे में पूरे पारदर्शी ढंग से जानकारी दे। पिछले साल के अंत में चीन के वुहान शहर में शुरू होने के बाद से कोरोनावायरस महामारी ने पूरे विश्व में ढाई लाख से अधिक लोगों को मौत के मुंह में पहुंचा दिया है।

ट्रम्प ने एरिज़ोना की यात्रा पर जाने से पहले कहा कि अमेरिका कोरोनावायरस की उत्पत्ति का पूरा विवरण देने वाली एक रिपोर्ट जारी करेगा, लेकिन उन्होंने इसे जारी करने के समय का कोई विवरण नहीं दिया। ट्रम्प ने संवाददाताओं से कहा, “हम एक समय के भीतर निश्चित रूप से रिपोर्ट जारी करेंगे।”

कोरोनावायरस प्रकोप के स्रोत के रूप में चीन को निशाना बनाते हुए उसे महामारी के प्रसार के लिये जिम्मेदार बताने के बावजूद ट्रम्प और उनके प्रशासन के अधिकारियों ने कोरोनावायरस की सटीक उत्पत्ति के बारे में भिन्न-भिन्न विचार व्यक्त किया है। रविवार को विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा कि इसके काफी सबूत हैं कि कोरोनावायरस वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से उभरा। जबकि अमेरिकी खुफिया एजेंसियों के बीच इस निष्कर्ष पर विवाद नहीं था कि यह मानव निर्मित नहीं है।

मंगलवार को अमेरिका के शीर्ष जनरल मार्क मिले ने कहा कि यह अभी भी ज्ञात नहीं है कि कोरोनोवायरस चीन के एक वन्यजीव मांस बाजार, वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी या किसी अन्य स्थान से निकला है।

जबकि ट्रम्प से पिछले गुरुवार को पूछा गया कि कोरोनावायरस के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से निकलने से जुड़े सबूतों को क्या उन्होंने देखा है? तो उन्होंने पूरे विश्वास से सकारात्मक जवाब तो दिया लेकिन इससे जुड़ी बारीकियों को बताने से इनकार कर दिया।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)