Sun. Aug 9th, 2020

सत्ता के लिए देश का किया गया था बंटवारा : गिरिराज

1 min read

बेगूसराय : अपने संसदीय क्षेत्र में दो दिवसीय दौरे पर आये केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह यहां आसपास के गांंवों में जनसभा कर लोगों को नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) की सच्चाई से रूबरू करा रहे हैं। बुधवार को साहेबपुर कमाल के उच्च विद्यालय तड़बन्ना में आयोजित जनसंवाद कार्यक्रम में गिरिराज सिंह ने कहा कि हमारा भारत जिस समय आर्यावर्त था, उस समय इसकी सीमाएं अफगानिस्तान, श्रीलंका से लेकर इरान, वर्मा तक थी, अब वह क्यों सिमट गयीं, मुसलमानों के रहने के लिए दुनिया में 50 देश हैं, लेकिन हिंदुओं के रहने के लिए दुनियाभर में एकमात्र देश भारत ही है।

इसलिए मैं डंका की चोट पर कहता हूं कि भारतवंशी तेरा मेरा रिश्ता, जय श्रीराम से जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि सीएए नागरिकता देने का कानून है, नागरिकता लेने का नहीं लेकिन सत्ता के लोभ में जिसने पाकिस्तान-हिन्दुस्तान बनाया आज वही लोग सीएए को लेकर देशभर में भ्रम पैदा कर रहे हैं। सत्ता के लोभ में कुछ लोग देश को तोड़ रहे हैं, उन्हें याद करना चाहिए कि दुनियाभर में भारत ही एकमात्र ऐसा देश है, जिसे लोग भारतमाता कहते हैं। सिंह ने कहा कि नेहरू-लियाकत समझौते के तहत वर्तमान की सरकार का यह दायित्व बनता है कि विभाजन के पश्चात धार्मिक रूप से पीड़ित एवं शोषित लोगों को सम्मानपूर्वक भारत लाकर उन्हें यहां की नागरिकता दी जाये, जिससे वे नई जिंदगी जी सकें।

मौके पर भाजपा के संगठन प्रभारी रामकुमार झा, पूर्व जिलाध्यक्ष संजय सिंह, वरिष्ठ नेता अमरेंद्र कुमार अमर, कुंदन सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष संजय कुमार, कुंदन भारती, कृष्ण मोहन पप्पू एवं मीडिया प्रभारी सुमित सन्नी आदि उपस्थित थे।

जनसंवाद के बाद गिरिराज सिंह ने भगतपुर, मंसेरपुर, पहाड़पुर, मिजार्पुर एवं शादीपुर दियारा क्षेत्रों का भ्रमण कर लोगों से मुलाकात की तथा उनकी समस्याएं सुनीं।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)