Wed. Dec 11th, 2019

अयोध्या विवाद पर कल आएगा सुप्रीम फैसला

1 min read

नई दिल्ली : देश के सबसे पुराने अयोध्या विवाद पर कल सुप्रीम कोर्ट का फैसला आएगा। सुप्रीम कोर्ट में इस मामले में कल फैसला सुनाएगा। इस फैसले को देखते हुए देशभर में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद है। वहीं धर्मगुरुओं ने भी कहा है कि लोग शांति बनाए रखें।

अयोध्या विवाद पर फैसला सुप्रीम कोर्ट का इम्तेहान : इमाम बुखारी

जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने शुक्रवार को कहा है कि अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का आने वाला फैसला काफी अहमियत रखता है। उन्होंने कहा कि यह फैसला सुप्रीम कोर्ट का इम्तेहान भी है। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया की निगाहें इस फैसले पर टिकी हुई हैं। उन्होंने कहा कि मैं समझता हूं कि सुप्रीम कोर्ट हक और इंसाफ को सामने रखते हुए अपना फैसला सुनाएगा।

शाही इमाम ने कहा कि अयोध्या मसले पर पहला मुकदमा 1885 में दायर हुआ था। तभी से लगातार निचली अदालतों से होता हुआ यह मुकदमा इलाहाबाद हाईकोर्ट तक पहुंचा और आज सुप्रीम कोर्ट इस मसले पर अपना फैसला जल्द ही सुनाने वाला है। उन्होंने कहा कि फैसले को लेकर तमाम राजनीतिक दलों के नेताओं, धार्मिक नेताओं व बुद्धिजीवी आदि के बयान आ रहे हैं। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में लगातार इस पर बहस हो रही है। उन्होंने कहा कि कुछ असामाजिक तत्व इस मामले को लेकर देश का माहौल खराब करना चाहते हैं, जिनसे हमें होशियार रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला हक और इंसाफ की आवाज बनेगा, मुझे इसकी पूरी उम्मीद है।

अयोध्या फैसले से पहले गोगोई ने यूपी के मुख्य सचिव और डीजीपी को किया तलब

अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि मामले में जल्द ही फैसला आने के मद्देनजर देश के प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने आज पूर्वा ”यहां उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी और पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह को बुलाकर राज्य की कानून व्यवस्था की जानकारी ली। उच्चतम न्यायालय परिसर में मुख्य न्यायाधीश के चैंबर में गोगोई के साथ इन अधिकारियों की बैठक में फैसला सुनाने वाली पीठ के चारों न्यायाधीश और राज्य सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

गोगोई ने राज्य की कानून व्यवस्था के बारे में अधिकारियों से विस्तार से जानकारी ली। अयोध्या के विवादित स्थल पर कब्जे को लेकर उच्चतम न्यायालय में मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली संविधान पीठ ने 17 अक्टूबर को सुनवाई पूरी कर ली थी और अगले सप्ताह इस बहुचर्चित मामले का बहुप्रतीक्षित फैसला आने की संभावना है। फैसले के पहले अखिल भारतीय संत समिति, आरएसएस और वीएचपी ने आश्वासन दिया है कि वे फैसले को जय पराजय अथवा हिन्दु मुसलमान के सांप्रदायिक रूप में नहीं लेंगे और ना ही किसी को चिढ़ाने या भड़काने वाले बयान देंगे। मुस्लिम समाज की ओर से ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड, सुन्नी वक्फ बोर्ड आदि ने भी न्यायालय के फैसले का पूरा सम्मान करने का वचन दिया है।

योगी ने भी दिए सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी आगामी पर्वों और रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के मद्देनजर प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को कानून-व्यवस्था दुरुस्त रखने के निर्देश दिए हैं। राज्य सरकार के प्रवक्ता के मुताबिक योगी ने कहा कि प्रदेश में शान्ति हर हाल में बनाए रखने के लिए अधिकारी पूरी तरह सजग और तत्पर रहें। उन्होंने स्पष्ट किया कि कानून-व्यवस्था को प्रभावित करने वाले तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। शरारती तत्वों एवं माहौल खराब करने वाले लोगों पर कड़ी नजर रखी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)