Wed. Oct 28th, 2020

छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर राजनीति बंद करें: उदयन राजे भोसले

मुंबई : राज्यसभा सदस्य छत्रपति उदयन राजे भोसले ने कहा कि अब राजनीतिक दलों को छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर राजनीति करना बंद कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू के कार्यालय में शपथविधि के दौरान किसी भी तरह छत्रपति शिवाजी महाराज का अपमान नहीं हुआ है। अगर ऐसा हुआ रहता तो वह तत्काल इस्तीफा दे देते।

उदयन राजे भोसले ने गुरुवार को पत्रकारों को बताया कि बुधवार को राज्यसभा सदस्य की शपथ लेते समय उन्होंने जय हिंद, जय महाराष्ट्र, जय भवानी, जय शिवाजी की घोषणा की थी। इस पर कांग्रेस की ओर से आक्षेप दर्ज करवाया गया। इसके बाद सभापति वेंकैया नायडू ने घोषणा न करने की बात कही थी। उस समय राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार भी उपस्थित थे। कहीं किसी भी तरह का अपमान होने का सवाल ही नहीं उठा। भोसले ने कहा कि बहुत हो गया, छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर अब राजनीति नहीं होनी चाहिए।

कांग्रेस पार्टी के राज्यसभा सदस्य राजीव सातव ने कहा कि छत्रपति उदयन राजे भोसले अनायास कांग्रेस पार्टी का नाम इस मामले में घसीट रहे हैं। शपथविधि के समय कांग्रेस के किसी भी सदस्य ने किसी भी तरह आक्षेप नहीं दर्ज करवाया था। इसके लिए शपथविधि की क्लीपिंग देखी जा सकती है। सातव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सिर्फ राजनीतिक लाभ के लिए छत्रपति शिवाजी महाराज का नाम लेती हैं। बुधवार को भी प्रधानमंत्री के साथ हुए कार्यक्रम में उदयन राजे को उनके साथ नहीं बिठाया गया था।

शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत ने कहा कि शपथ विधि के साथ जय भवानी, जय शिवाजी की घोषणा करना मुझे नहीं लगता कि गलत है। इससे पहले उन्होंने भी इस तरह की घोषणा की है। इतना ही नहीं शपथ विधि के दौरान अल्लाह हो अकबर की भी घोषणा इससे पहले की जा चुकी है।

बुधवार को राज्यसभा सदस्यों की शपथविधि के बाद उदयन राजे भोसले की घोषणा पर सभापति की ओर से आक्षेप लेने के बाद महाराष्ट्र में राजनीतिक माहौल गरमाया हुआ है। गुरुवार को नासिक में भाजपा कार्यालय के बाहर संभाजी ब्रिगेड के कार्यकर्ताओं ने सभापति वेंकैया नायडू के विरुद्ध आंदोलन किया है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)