Mon. Oct 26th, 2020

अनुच्छेद 370 हटाने के ऐतिहासिक फैसले से श्यामाप्रसाद मुखर्जी का बलिदान सफल हुआ : राम नाईक

मुंबई : उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल राम नाईक ने सोमवार को अनुच्छेद 370 हटाने के ऐतिहासिक फैसले का जोरदार स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के फैसले से श्यामाप्रसाद मुखर्जी का बलिदान 66 वर्षों बाद अब सार्थक हुआ है।
राम नाईक ने कहा कि कश्मीर को भारत से अलग रखने वाले, आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने की मांग के लिए सबसे पहले भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने सीधे कश्मीर जाकर 1953 में आंदोलन छेड़ा था।  इसी आंदोलन में उनकी हत्या कर दी गई थी। आज उसी विचारधारा को मानने वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने संसद में अनुच्छेद 370 को हटाने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है। स्वतंत्रता के बाद लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल ने जिस तरह निडरता से बड़े फैसले लिये और उन्हें लागू किया, उसी निडरता से आज संसद में गृह मंत्री अमित शाह ने अनुच्छेद 370 हटाने का निर्णय किया है।
shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)