Thu. Sep 19th, 2019

शाह ने की चक्रवात ‘वायु’ से जुड़ी तैयारियों की समीक्षा- ‘वायु’ से निपटने के लिए 26 दल तैनात

13 को गुजरात के तटीय इलाकों में पहुंचेगा
 मछुआरों को समुद्र तट से दूर रहने की सलाह

12.06.2019

नयी दिल्ली : केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को गुजरात में ‘वायु’ चक्रवात से उत्पन्न होने वाले संकट की स्थिति को लेकर केंद्र एवं राज्यों के मंत्रालयों और एजेंसियों से जुड़ी तैयारियों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों को सुनिश्चित करने के लिए संभव उपाय खोजने के निर्देश दिए। भारतीय तटरक्षक बल, नौसेना, थल सेना और वायु सेना की इकाईयां निगरानी के लिए तैनात कर दी गई हैं। बताया गया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ने नावों, पेड़ काटने वालों, दूरसंचार उपकरणों आदि से सुसज्जित 26 दलों को तैनात कर दिया है तथा गुजरात सरकार के अनुरोध पर 10 और दलों को तैयार किया है।

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार चक्रवात ‘वायु’ 13 जून की सुबह करीब 135 किलोमीटर की तेज हवाओं के साथ गुजरात के पोरबंदर और महुबा तटों पर टकराएगा। विभाग के अनुसार इस दौरान भारी वर्षा होगी। गुजरात के तटीय इलाकों  निचले क्षेत्रों में एक से डेढ़ मीटर ऊंची लहरें आने की आशंका जताई गई है। तटीय क्षेत्रों कच्छ, देवभूमि, द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, गिर, सोमनाथ, अमरेली, भावनगर चक्रवात से प्रभावित होंगे। तटीय क्षेत्रों में मछुआरों को अगले कुछ दिनों तक समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है। साथ ही बंदरगाहों को खतरे के संकेत और सूचना जारी करने को कहा गया है।

समीक्षा के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने वरिष्ठ अधिकारियों को लोगों की सुरक्षित निकासी और जरूरी सेवाओं के प्रबंधन एवं त्वरित बहाली सुनिश्चित करने के हरसंभव प्रयास करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा 24 घंटे का एक कंट्रोल रूम बनाने को भी कहा गया है। बैठक में केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा, पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय में सचिव एम. राजीवन और मौसम विभाग और मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)