Sun. Jul 5th, 2020

खोज. चीन में मिला एक और खतरनाक वायरस, कोरोना से बड़ा खतरा

नये स्वाइन फ्लू जी4 ने उड़ाये वैज्ञानिकों के होश

नयी दिल्ली : कोरोना वायरस के कहर से अभी दुनिया उबर भी नहीं पायी कि चीन में एक और खतरनाक वायरस पैदा हो गया है। इस नये वायरस के मिलने के बाद वैज्ञानिक हैरान हैं। बताया जा रहा है कि यह कोरोना से भी खतरनाक हो सकता है।

अमेरिकी साइंस जर्नल पीएनएएस में प्रकाशित शोध रिपोर्ट में यह बात सामने आयी है। स्वाइन फ्लू बीमारी 2009 में पूरी दुनिया में फैले एच1एन1 स्वाइन फ्लू का ही अनुवांशिक वंशज है। यानी जेनेटिकल डिसेंडेंट पर यह ज्यादा खतरनाक है। चीन की कई यूनिवर्स्िाटी और चीन के सेंटर फॉर डिजीस कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के वैज्ञानिकों ने बताया है कि नया स्वाइन फ्लू इतना ताकतवर है कि यह इंसानों को बहुत अधिक बीमार कर सकता है। नये स्वाइन फ्लू का संक्रमण अगर कोरोना महामारी के दौरान फैलता है, तो बहुत बड़ा सकंट खड़ा हो सकता है।

चीन में 179 तरह के स्वाइन फ्लू

इस नये स्वाइन फ्लू का नाम जी4 है। चीन के वैज्ञानिकों ने इसे खोजने के लिए साल 2011 से 2018 तक रिसर्च किया है। इस दौरान इन वैज्ञानिकों ने चीन के 10 राज्यों से 30 हजार सुअरों की नाक से स्वैब इकट्ठा किया। इसकी जांच में पता चला कि चीन में 179 तरह के स्वाइन फ्लू हैं। ज्यादातर सुअरों में जी4 स्वाइन फ्लू पाया गया। इसके बाद वैज्ञानिकों ने जी4 पर शोध शुरू किया, जिसके बाद ऐसा खुलासा हुआ कि उनके होश उड़ गये।

तेज संक्रमण फैलने की संभावना

नया स्वाइल फ्लू जी4 इंसानों को तेजी और गंभीरता से संक्रमित कर सकता है। जी4 अत्यधिक तेजी से संक्रमण फैलाता है। सामान्य फ्लू की प्रतिरोधक क्षमता होने के बावजूद जी4 किसी को भी भयानक रूप से बीमार कर सकता है।

इंसानों में फैला तो स्थिति होगी भयावह

वैज्ञाानिकों का दावा है कि चीन में सुअरों के फार्म में काम करने वाले हर दस लोगों में से एक में जी4 का संक्रमण पाया गया है। इन वैज्ञानिकों ने इन लोगों का एंटीबॉडी टेस्ट किया था, जिसके बाद जी4 के संक्रमण का पता चला। चीनी वैज्ञानिकों ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि अगर जी4 इंसानों से इंसानों में फैलने लगा तो यह महामारी और खतरनाक हो जायेगी।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)