Thu. Aug 13th, 2020

सरयू राय ने एसीबी के डीजी से मुलाकात की, मेनहर्ट मामले में की करायी जाये जांच

1 min read

रांची : मेनहर्ट मामले को लेकर जमशेदपुर पूर्वी के निर्दलीय विधायक सरयू राय ने शुक्रवार को रांची में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो,एसीबी के डीजी से मुलाकात की और मेनहर्ट मामले में परिवाद पत्र दाखिल कर जांच का आग्रह किया। सरयू राय ने एसीबी के डीजी को सौंपे गये पत्र में बताया कि रांची शहर के सिवरेज-ड्रेनेज निर्माण का डीपीआर तैयार करने के लिए मेनहर्ट परामर्शी की नियुक्ति में हुई अनियमितता, भ्रष्टाचार एवं षडयंत्र मामले की सघन जांच जरूरी है।

मेनहर्ट कंपनी की वास्तविकता पर भी संदेह

विधायक सरयू राय ने कहा कि इस बीच एक और बात सामने आ रही है कि मेनहर्ट के नाम से जो निविदा रांची के सिवरेज-ड्रेनेज का डीपीआर तैयार करने के लिए निविदा डाली गयी, वह असली मेनहर्ट सिंगापुर नहीं है, बल्कि इसके लिए भारत में इस नाम की संस्था बनाकर निविदा डाली गयी।

इसकी जाँच होनी चाहिए। यदि यह सही है तो अत्यंत गंभीर बात है।सरयू राय ने बताया कि परिवाद पत्र पर कानून की प्रासंगिक धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई का आग्रह किया गया है तथा इस कांड की गहन जाँच करने की प्रक्रिया शुरू करने की मांग की गयी है, ताकि षडयंत्रकारियों को बेनकाब किया जा सके तथा अपने निहित स्वार्थी आचरण से राज्यहित और जनहित पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वालों को दंडित किया जा सके।

निशाने पर रहे हैं रघुवर दास

मेनहर्ट मामले में कथित गड़बडि़यों को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास निशाने पर रहे हैं। इस मामले को लेकर सरयू राय लगातार श्री दास को घेरते आये हैं। पिछले दिनों सरयू राय की लिखित पुस्तक मेनहर्ट नियुक्ति, लम्हों की खता का लोकार्पण भी हुआ है। इसकी सॉफ्ट कॉपी उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को भी अवलोकनार्थ भेजी है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)