Sat. May 30th, 2020

पहले दिन ही प्रियंका ने लगाई कांग्रेसियों की ‘क्लास’-बूथ संख्या तक नहीं बता पाए नेता

1 min read

14.02.2019

लखनऊ : आपकी बूथ संख्या क्या है? जब यह सवाल मिलने वाले पदाधिकारी से पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने पूछा तो वह बगलें झांकने लगे। काफी देर तक इधर-उधर सोचने के बाद उन्होंने जवाब दिया ‘जी, याद नहीं है।’ जैसे ही जवाब आया, प्रियंका ने अगला सवाल किया- पिछला कार्यक्रम क्या किया था? कार्यक्रम का नाम बताया गया तो उन्होंने उसकी डीटेल मांगी। डीटेल देखते ही उन्होंने कहा कि यह तो एक साल पहले का कार्यक्रम था। इसके बाद क्या किया? पदाधिकारी का जवाब आया-दिल्ली से ही इतने कार्यक्रम आते हैं, वही करते रहते हैं। प्रियंका ने उनसे दो टूक कहा, तो क्या आपकी कोई जिम्मेदारी नहीं है? क्या आप खुद से कोई कार्यक्रम नहीं करेंगे?

बातचीत का यह सिलसिला, ऐसे ही एक-एक लोकसभा क्षेत्रों से आए पदाधिकारियों और वरिष्ठ नेताओं से हुआ। प्रियंका ने बैठक में पहुंचे एक-एक व्यक्ति की पूरी बात सुनी और उनसे संगठन और चुनाव को लेकर मशविरा किया। मोहनलालगंज लोकसभा क्षेत्र की बैठक से शामिल लोगों से जब प्रियंका ने पूछा कि यहां मौजूद लोगों में से चुनाव कौन लड़ना चाहता है? इसपर आधे से ज्यादा लोगों ने हाथ ऊपर किए। यह देखने के बाद प्रियंका ने कहा, जिस प्रत्याशी का नाम तय किया जाएगा, आप सभी लोग उसे मिलकर लड़ाएंगे। सभी ने हामी भरी। लोगों ने प्रियंका से केवल एक फरियाद की कि लोकल कांग्रेसी को ही लड़ाया जाए।

रोने लगे पदाधिकारी
यहां ब्लॉक स्तर के एक बुजुर्ग पदाधिकारी से जब प्रियंका ने पूछा तो वह रोने लगे। जब कारण पूछा गया तो वह बोले, कभी प्रभारी से मिलने का मौका ही नहीं मिलता था। कुछ बड़े लोग ही एयरपोर्ट पर पहुंचते और वहीं मिल आते थे।

लखनऊ में लीडरशिप क्यों नहीं हुई तैयार?
लखनऊ के पदाधिकारियों से प्रियंका गांधी की जब मुलाकात हुई तो तमाम सवालों के बीच उन्होंने पूछा कि लखनऊ में लीडरशिप क्यों नहीं तैयार हुई? इस पर लोगों ने उन्हें बताया कि यहां बाहर के लोगों को लाकर चुनाव लड़ाया जाता है। वे चुनाव लड़ते हैं, फिर चले जाते हैं और संगठन निराश हो जाता है।

इतने महामंत्री!… इतने तो यूएनओ में भी नहीं होते
कई लोकसभा क्षेत्रों के पदाधिकारियों और नेताओं से मुलाकात के बाद प्रियंका ने एक लोकसभा क्षेत्र की मीटिंग के बाद कहा कि यहां जो भी आता है, वह खुद को प्रदेश महामंत्री बताता है। कितने महामंत्री हैं? किसी ने जवाब दिया कि 500 लोगों की कमिटी है। तो प्रियंका हैरत में पड़ गईं। वह बोलीं, इतनी बड़ी कमिटी? इतनी तो यूएनओ में भी नहीं होती।

एक फॉर्म भी भराया गया
यहां मुलाकात करने वाले लोगों में से सभी का फॉर्म भी भराया गया जो प्रियंका गांधी ने जमा करा लिए। इसमें नाम पता के अलावा यह भी पूछा गया कि वह ट्विटर या वॉट्सऐप पर हैं या नहीं? पार्टी में अब तक वे किन-किन पदों पर रहे हैं, उसका भी ब्योरा मांगा गया है।

4 thoughts on “पहले दिन ही प्रियंका ने लगाई कांग्रेसियों की ‘क्लास’-बूथ संख्या तक नहीं बता पाए नेता

  1. Corporacion Dermoestetica Propecia Viagra Senza Ricetta Yahoo Keflex Inc cialis Belladonna Medication First Medicine Online Pharmacy Shop Cialis 5 Mg Online Pharmacy

Comments are closed.

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)