Sun. Sep 27th, 2020

कोरोनाकाल में राजनीति की चुनौतियों से निपटने के लिए झारखंड न्यू नॉर्मल पॉलिटिक्स पार्टियों की हो रही तैयारी

रांची : कोरोनाकाल में राजनीति की चुनौतियों से निपटने के लिए झारखंड की पार्टियां भी न्यू नॉर्मल समाधान की तलाश में लग गई हैं। लंबे समय तक बड़ी सभाओं या बैठकों के दौर की संभावना नहीं देखते हुए नेतागण नए उपाय खोजने में लग गए हैं।क्षेत्रीय दलों में भी खुद का जनमत टिकाए रखने के लिए साइबर स्पेस में नई युक्तियों की खोज की होड़ लगी है। इसके लिए सूचना तकनीक के जानकारों से बाजाप्ता सलाह लिए जा रहे हैं। अब जनसर्मथन को लगातार बरकरार प्रदर्शित करने के लिए और पार्टी संगठन को लगातार सक्रिय बनाए रखने के लिए भी अलग तरह के प्लेटफॉर्म की जरूरत महसूस होने लगी है।

भाजपा की ओर से इसके लिए पहले से ही कई तरह के ऐप इस्तेमाल किए जा रहे हैं। कांग्रेस भी हाल के दिनों में प्रदेश नेतृत्व के स्तर पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठकों की तरकीब को लगातार आजमा रही है। झामुमो की ओर से वेबिनार की योजना बनाई जा रही है। पार्टी ने संगठन के कार्यकर्ताओं और समर्थकों से संवाद के लिए ऐप बनाने की भी योजना बनाई है। आजसू की ओर से भी ऐप तैयार कराने की योजना है। सूचना तकनीक के दूसरे समाधानों के बारे में भी आजसू नेतृत्व विचार कर रहा है। इसके अलावा वामदलों की ओर से भी सूचना तकनीक की युक्तियों के साथ कई तरह के प्रयोग किए जा रहे हैं।

 

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)