Sun. Jan 17th, 2021

डाक विभाग की योजना : पेंशनधारियों को जीवित होने का सबूत देने नहीं जाना पड़ेगा बैंक

1 min read

डाकघर में चलाई जा रही है अनेक कल्याणकारी योजनाएं

बेगूसराय : सरकारी सेवा अथवा प्राइवेट सेवा से रिटायर्ड कर्मचारी को पेंशन प्राप्त करने के लिए जीवित प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने प्रत्येक वर्ष नवम्बर महीने में सम्बंधित बैंक जाने की जरूरत नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया ने इस काम को आसान कर दिया है। ऐसे लोग अपने नजदीक के ग्रामीण डाकघर से ही बायोमेट्रिक मशीन पर अंगुठे की छाप देकर अपने जीवन को प्रमाणित कर सकते है और बिना रुकावट के अपना पेंशन पा सकते हैं। यह जानकारी बुधवार को बेगूसराय प्रमंडल के डाक अधीक्षक अरविन्द कुमार सिंह ने दी।

उन्होंने बताया कि डाक विभाग के द्वारा 18 से 50 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के साथ-साथ वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी लाभदायक योजना बनाई गई है। भारतीय डाक विभाग के इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक द्वारा पिछले माह से आम लोगों के लिए चलाए जा रहे प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना को हर घर पहुंचाने के लिए विशेष अभियान चलाए जा रहे हैं। यह सुविधा सभी गांव में ग्रामीण डाकघरों के माध्यम से दी जा रही है।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना का वार्षिक शुल्क 330 रुपया है। लाभुक को इतने ही शुल्क में नेचुरल अथवा एक्सीडेंटल मृत्यु की स्थिति में उनके नॉमिनी को दो लाख की राशि के भुगतान का प्रावधान है। 18 वर्ष से 50 वर्ष के कोई भी लोग पोस्टल बैंकिंग ग्राहक अपने नजदीकी पोस्टमॉस्टर से मिलकर इस योजना का फायदा उठा सकते हैं। बेगूसराय डाक प्रमंडल के ग्रामीण डाक सेवक काफी लगन से सरकारी योजनाओं को फलीभूत करने में योगदान दे रहे है।

उन्होंने बताया कि भारतीय डाक विभाग में दिए जा रहे हर प्रकार के सेवा क्षेत्र में अखिल भारतीय स्तर पर बेगूसराय डाक प्रमंडल को नई ऊंचाई प्रदान कर रहे हैं। इसके लिए पूर्वी क्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल एवं डाक निदेशक से बेहतर सेवा के लिए बेगूसराय को प्रशस्ति पत्र और ईनाम दे चुके हैं। बेगूसराय डाक प्रमंडल के कर्मचारी एवं अधिकारी इन दोनों कार्यों में फिर से अखिल भारतीय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने के लिए अग्रसर हैं। इससे बेगूसराय डाक प्रमंडल की छवि अखिल भारतीय स्तर पर निखरने के साथ-साथ यहां की जनता भी सबसे अधिक लाभान्वित होते हैं।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)