Wed. Sep 30th, 2020

पुर्तगाली राष्ट्रपति ने की प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात – समुद्री परिवहन, विरासत केंद्र, बंदरगाह बनाने का समझौता

1 min read

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पुर्तगाली राष्ट्रपति मार्सेलो रेबेलो डी सूसा से शुक्रवार को द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति की समीक्षा के लिए बातचीत की। पुर्तगाली राष्ट्रपति मार्सेलो रेबेलो डी सूसा चार दिवसीय यात्रा के लिए गुरुवार देर शाम नई दिल्ली पहुंचे। आज सुबह उनका राष्ट्रपति भवन में आधिकारिक स्वागत किया गया। इसके बाद उन्होंने राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधी पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। दोपहर के समय राष्ट्रपति मार्सेलो ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से दिल्ली के हैदराबाद हाउस में मुलाकात की और विभिन्न विषयों पर चर्चा की। इसके बाद दोनों देशों के नेताओं के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर पर वार्ता हुई।

भारत और पुर्तगाल ने समुद्री परिवहन एवं बंदगाहों के संचालन को ज्यादा बेहतर बनाने और गुजरात के लोथल में एक विश्व स्तरीय राष्ट्रीय समुद्री विरासत परिसर विकसित करने के वास्ते शुक्रवार को सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये। मंत्रालय ने बताया कि इस समझौते के तहत पुर्तगाल लोथल में विश्व स्तरीय समुद्री विरासत परिसर विकसित करने में मदद करेगा। परिसर में प्राचीन काल से वर्तमान समय तक की समुद्री परिवहन व्यवस्था की समृद्ध यात्रा पर विविध और विस्तृत प्रस्तुति की जाएगी। लोथल परिसर के निर्माण से लोगों में देश की समृद्ध समुद्री विरासत के बारे में जानकारी हासिल होगी।

पुर्तगाल के साथ समुद्री परिवहन तथा बंदरगाह को लेकर भी एक समझौता हुआ है जिससे दोनों देशों में मालवाहक बेड़ों के बेहतर संचालन तथा समुद्री परिवहन को बढ़ावा मिलेगा। इससे समुद्री परिवहन तथा अन्य गतिविधियों के लिए अंतरराष्ट्रीय संधियों के अनुसार काम करने में मदद मिलेगी और इस दिशा में हुए समझौते के उद्देश्यों को भी मजबूत किया जा सकेगा।

पुर्तगाल के राष्ट्रपति के प्रतिनिधिमंडल में राज्यमंत्री और विदेश मामलों के प्रोफेसर ऑगस्टो सैंटोस सिल्वा, अंतरराष्ट्रीयकरण राज्य सचिव प्रोफेसर यूरिको ब्रिलेंटे डायस और राष्ट्रीय रक्षा जोर्ज सेगुरो सेंचुरी के राज्य सचिव शामिल हैं।
शनिवार को राष्ट्रपति मार्सेलो मुंबई जाएंगे और राज्यपाल से मुलाकात करेंगे। इसी दिन वह वहां से गोवा भी जाएंगे, जहां अगले दिन वह मुख्यमंत्री

से मिलेंगे और अन्य कार्यक्रमों में भाग लेंगे। दोनों देश विज्ञान, संस्कृति और शिक्षा और व्यापार के विभिन्न क्षेत्रों में सक्रिय सहयोग बढ़ा रहे हैं। इस यात्रा से दोनों के आपसी संबंधों अधिक मजूबत होंगे। पुर्तगाल के साथ भारत के संबंधों में हाल के दिनों में काफी प्रगति हुई है। इसमें दिसम्बर-2019 में प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा की भारत यात्रा और जून 2017 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पुर्तगाल यात्रा ने महत्वपूर्ण योगदान दिया है। यह राष्ट्रपति मार्सेलो की पहली भारत यात्रा है। इससे पहले 2007 में पुर्तगाली राष्ट्रपति ने भारत का दौरा किया था।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)