Sat. Dec 14th, 2019

दिल्ली के विकास में रहा बड़ा योगदान : पीएम मोदी

1 min read

शीला दीक्षित के निधन पर राष्ट्रपति, राहुल गांधी सहित कई दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि, शोक संवेदनाओं का लगा रहा तांता
21.07.2019

नई दिल्ली : दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष शीला दीक्षित का आज निधन हो गया। दीक्षित करीब एक सप्ताह से बीमार चल रही थीं। शीला दीक्षित करीब 15 सालों तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं और उसके बाद उन्हें केरल का राज्यपाल बनाया गया था। वे 81 साल की थी। दिल का दौरा पड़ने से शनिवार दोपहर 3.55 बजे उनका देहांत हो गया। आज सुबह दिल्ली के एस्कॉर्ट अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि शीला दीक्षित को शुक्रवार सुबह सीने में जकड़न की शिकायत के बाद एस्कार्ट्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उन्होंने अंतिम सांस ली।

शीला दीक्षित भारतीय राजनीति का एक ऐसा चेहरा थीं, जो अपने आपमें एक पूरा का पूरा इतिहास थीं। अपने निजी और सियासी जीवन में उन्होंने कई उतार-चढ़ाव देखे लेकिन उनके हौसले और ऊर्जा में कभी भी कोई कमी दिखाई नहीं दी। उनके निधन पर क्या आम और क्या खास सभी लोग दुख जता रहे हैं।

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ राजनेता श्रीमती शीला दीक्षित के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ। उनका कार्यकाल राजधानी दिल्ली के लिए महत्वपूर्ण परिवर्तन का दौर था जिसके लिए उन्हें याद किया जाएगा। उनके परिवार व सहयोगियों के प्रति मेरी शोक-संवेदनाएं।

-रामनाथ कोविंद, राष्ट्रपति

शीला दीक्षित के निधन पर कहा कि मैं सदमे में हूं। उन्होंने कहा कि देश ने बेहतरीन नेता खो दिया।

-मनमोहन सिंह, पूर्व पीएम

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती शीला दीक्षित जी के निधन से अत्यंत दुखी हूं। मैं उनके परिजनों और समर्थकों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हू़ं। ईश्वर दु:ख की इस घड़ी में उनके परिवार को शक्ति दे और दिवंगत आत्मा को चिर शांति प्रदान करे । ॐ शांति शांति शांति।

-अमित शाह, गृहमंत्री

शीला दीक्षित के निधन से गहरा दुख हुआ। वे बहुत प्यार करती थीं। उन्होंने दिल्ली और देश के लिए जो कुछ भी किया, लोग उसे याद रखेंगे। शीला दीक्षित पार्टी की एक बड़ी नेता थीं, पार्टी के प्रति, देश की राजनीति और विशेष रूप से दिल्ली के लिए जो उन्होंने किया वह अपार है।

-प्रियंका गांधी, कांग्रेस महासचिव

शीला दीक्षित के निधन पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि यह दिल्ली के लिए बड़ा नुकसान है। उनके योगदान को याद किया जाएगा।

-अरविंद केजरीवाल, दिल्ली सीएम

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित जी के दु:खद निधन का समाचार सुन स्तब्ध हूँ,परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। उनका निधन राजनैतिक क्षेत्र की ऐसी क्षति है जो अपूर्णीय है। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनों को यह दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे। ॐ शान्ति ॐ।

-कमलनाथ, मध्य प्रदेश सीएम

आप जैसी बेहद सौम्य और सुलझे विचारों की प्रगतिशील नेता का जाना न केवल आईएनसी दिल्ली बल्कि पूरे देश की बड़ी क्षति है! ईश्वर आप को अपनी शांति-छाया में यथेष्ट स्थान प्रदान करे, यही प्रार्थना है ! ॐ शान्ति ॐ।

-कुमार विश्वास, कवि

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता श्रीमती शिला दीक्षित जी के देहांत की खबर सुनकर व्यथित हूं। दिल्ली के विकास में उनका योगदान हमेशा याद रखा जाएगा। उनके परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। भगवान शीला जी की दिवंगत आत्मा को शांति दे। ॐ शांति:।

-नितिन गडकरी, केंद्रीय मंत्री

शीला दीक्षित जी की आकस्मिक निधन से पीड़ा हुई। इनके साथ ही एक राजनीतिक युग गुजर गया। 40 साल से मैं उन्हें जानता था। वह मेरे लिए एक बड़ी बहन की तरह थीं, मेरे मुश्किल क्षणों में मेरा मार्गदर्शन और समर्थन करती थीं। मैं आपको याद करूंगा शीला जी। आरआईपी।

-अमरिंदर सिंह, पंजाब सीएम

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री, हम सबकी नेता एवं मार्गदर्शक रहीं आदरणीय शीला दीक्षित जी के निधन का समाचार सुनकर मन व्यथित है। अभी कुछ दिन पहले ही मुझे उनका आशीर्वाद मिला था। ये बदली हुई चमकती दिल्ली अपनी इस सृजनकारी ‘माँ’ को कभी न भूल पाएगी। ॐ शांति:।

-भूपेश बघेल, छत्तीसगढ़ सीएम

शीला दीक्षित के निधन के बाद शोक जताया और उन्होंने आज के सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए।

-मनोज तिवारी, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती शीला दीक्षित जी के निधन की खबर बहुत दु:खद है| भगवान उनकी आत्मा को शान्ति प्रदान करे, और परिवार को ये क्षति सहने की शक्ति दे। भावपूर्ण श्रद्धांजलि।

-मनीष सिसोदिया, दिल्ली उपमुख्यमंत्री

कांग्रेस पार्टी की वरिष्ठ नेता एवं दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती शीला दीक्षित जी के निधन की खबर सुनकर अत्यंत दु:ख हुआ। मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों के साथ हैं और ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि दिवंगत आत्मा को वे अपने श्री चरणों में स्थान दें। ॐ शांति।

-योगी आदित्यनाथ, यूपी सीएम

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने शीला दीक्षित के निधन पर दुख जताया और कहा कि मैं उन्हें बहुत याद करूंगी। मेरा उनके साथ अच्छा रिश्ता था।

-ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल सीएम

केरल की पूर्व राज्यपाल और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री, आदरणीय श्रीमती शीला दीक्षित के निधन का दुखद समाचार मिला। ईश्वर से दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान देने और परिजनों को संबल देने की प्रार्थना करता हूं। आपको सदैव कुशल प्रशासक और मृदुभाषिणी के रूप में याद किया जायेगा।

-शिवराज सिंह चौहान, बीजेपी महासचिव

मुझे शीला दीक्षित जी के आकस्मिक निधन के बारे में जानकर दुख हुआ। हम राजनीति में विरोधी थे लेकिन निजी जीवन में दोस्त थे। वह एक बेहतरीन इंसान थीं।
-सुषमा स्वराज, पूर्व विदेश मंत्री

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती शीला दीक्षित जी के निधन की दु:खद खबर से आहत हूं। देश की राजधानी दिल्ली को विकसित करने में उनके अतुलनीय योगदान को भुलाया नहीं जा सकेगा। भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।

-राबड़ी देवी, आरजेडी नेता

शीला दीक्षित जी ने आपनी सोच और प्रगतिशीलता से अपने 15-साल के कार्यकाल में दिल्ली का कायाकल्प किया था, उनके देहावसान से पूरे देश को अपूर्णिय क्षति हुई है। उनके ममता भरे प्यार ने दिल्ली को वर्षों तक सींचा और उसे विश्व के अग्रणि नगरों में शामिल कराया। इतिहास उनके योगदान को याद रखेगा।

-आनंद शर्मा, कांग्रेस नेता

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता श्रीमती शीला दीक्षित जी के आकस्मिक निधन से अत्यंत दुखी हूँ। राजधानी दिल्ली के विकास में उनका योगदान हमेशा याद किया जाएगा। ईश्वर इस दु:ख में उनके परिवार को शक्ति दे और दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे। विनम्र श्रद्धांजलि।

-रामविलास पासवान, केंद्रीय मंत्री

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)