Sun. May 31st, 2020

पालघर की घटना सांप्रदायिक नहीं, गलतफहमी से हुई: उद्धव ठाकरे

1 min read

अमित शाह से भी हुई बात, सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई करने के दिए निर्देश

मुंबई : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि पालघर की घटना सांप्रदायिक नहीं है, सिर्फ गलतफहमी की वजह से हुई है। उन्होंने इस मामले को लेकर सामाजिक सौहार्द्र बिगाड़ने का प्रयास करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने की बात उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री से कही है। घटना की जांच वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अतुल कुलकर्णी कर रहे हैं। इस मामले में दो पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सोमवार को बताया कि पालघर की घटना को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी उनकी बात हुई है। यह घटना दो धर्मों के बीच की नहीं है। इससे पहले राज्य में कई बार माब लिंचिंग की घटना हुई है लेकिन वह इस समय उसकी चर्चा नहीं करना चाहते हैं।

इस घटना के बारे में उद्धव ठाकरे ने कहा कि 16 अप्रैल की रात को दो साधू सूरत जा रहे थे। महाराष्ट्र-दादरा नगर हवेली सीमा पर इन्हें रोका गया और वापस भेज दिया गया। उन्होंने कहा कि अगर उसी समय दादरा नगर हवेली पुलिस इन दोनों को सीमा पर ही रात भर रोकती और सुबह महाराष्ट्र सरकार के साथ बातचीत कर उन्हें सौंपती तो यह घटना टाली जा सकती थी।

सीमा से वापस लौटाए जाने के बाद दोनों साधू गड़चिंचले गांव से सूरत जाने का प्रयास कर रहे थे। इस गांव में बहुत दिनों से चोर घूमने की अफवाह थी।ग्रामीणों ने इसी गलतफहमी में इन पर हमला किया।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि गड़चिंचले गांव महाराष्ट्र-दादरा नगर हवेली सीमा के पास अति दुर्गम इलाके में हैं। इस गांव तक सीधे जाने के लिए सड़क मार्ग भी उपलब्ध नहीं है। गांव में दादरा नगर हवेली केंद्र शासित राज्य से होकर जाना पड़ता है।

गड़चिंचले गांव में 16 अप्रैल को हुई घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और रात को आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में 5 मुख्य आरोपित सहित 101 पुलिस कस्टडी में हैं। 9 नाबालिग बाल सुधार गृह में भेजे गए हैं।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि मामले की सघन जांच जारी है लेकिन इस घटना को लेकर सांप्रदायिक तनाव बढ़ाने का प्रयास सोशल मीडिया पर किया जा रहा है। उन्होंने यह बात उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को बताई है।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि वह खुद इस तरह की अफवाह फैलाने वालों पर अपने स्तर पर कार्रवाई करवाएंगे।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)