Mon. Feb 17th, 2020

बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए पोषण अति आवश्यक: राजेश्वरी

दुमका : समाहरणालय सभागार में उपायुक्त राजेश्वरी बी की अध्यक्षता में शुक्रवार को जिला शिक्षा समिति की बैठक की गई। बैठक में उपायुक्त ने कहा कि किसी भी परिस्थिति में विद्यालय में मध्याह्न भोजन बंद नहीं होना चाहिए। बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए न्यूट्रिशन अति आवश्यक है। विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति कम दर्ज होने के कारण उपायुक्त ने सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों पर नाराजगी जताई।

उपायुक्त ने कहा कि बच्चों को विद्यालय आने के लिए अपने क्षेत्र में प्रचार प्रसार एवं अभियान चलाकर बच्चों एवं उनके माता पिता को जागरूक करें। एक महीने के अंदर विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति में बढ़ोतरी नहीं हुई तो संबंधित अधिकारियों पर विधिसम्मत कार्रवाई की जाएगी।

बच्चों की शिक्षा के लिए हर एक दिन महत्वपूर्ण है। जिन विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति कम है, उन विद्यालयों के शिक्षकों एवं बच्चों के अभिभावकों के साथ बैठक कर, उन्हें विद्यालय आने के लिए प्रोत्साहित करें। संबंधित पदाधिकारी को उपायुक्त ने निर्देश दिया कि जो शिक्षक समय पर विद्यालय नहीं पहुंचते हैं या अनुपस्थित रहते हैं।

उनको स्पष्टीकरण एवं विभागीय स्तर से कार्रवाई की जाए। जिला शिक्षा अधीक्षक को उपायुक्त ने निर्देश दिया कि विद्यालय समय में किसी भी तरह की विभागीय बैठक नहीं रखा जाए। निर्धारित विद्यालय समय में किसी भी कार्य के लिए शिक्षक विद्यालय परिसर से बाहर नहीं जाएंगे। बच्चों की शिक्षा में किसी प्रकार की बाधा नहीं आनी चाहिए। यही बच्चे देश के भविष्य हैं। इन्हें शिक्षित करना हमारा दायित्व है। अपने विभागीय दायित्वों का निर्वहन सफलतापूर्वक नहीं किए जाने के कारण जिला शिक्षा अधीक्षक मारिया गोरेती तिर्की को उपायुक्त ने स्पष्टीकरण किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)