Tue. Oct 27th, 2020

भाजपा चाहे जितनी भी सीट जीते, सीएम तो नीतीश ही बनेंगे : अमित शाह

1 min read

चिराग पासवान ने खुद लिया है एनडीए से अलग होने का फैसला, भाजपा नेताओं के समझाने पर भी नहीं माने

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव में लोजपा के अलग चुनाव लड़ने के फैसले से भाजपा की बेचैनी बढ़ती जा रही है। भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं के बाद अब अमित शाह ने भी कहा है कि बिहार चुनाव में गठबंधन से अलग होने का फैसला चिराग पासवान ने खुद लिया था। अमित शाह ने कहा कि भाजपा ने चिराग पासवान को समझाने की कोशिश की लेकिन चिराग नहीं माने।

एक टीवी चैनल से बात करते हुए अमित शाह ने कहा कि बिहार में अगर एनडीए एक साथ चुनाव नहीं लड़ रहा है तो इसके लिए चिराग पासवान जिम्मेवार हैं। चिराग पासवान लगातार नीतीश कुमार के खिलाफ बयान दे रहे थे। इससे बात बिगड़ी। भाजपा ने चिराग को समझाने की कोशिश भी की लेकिन वे नहीं माने। इसके कारण ही बिहार में एनडीए का स्वरूप बदल गया है।

अमित शाह ने कहा कि भाजपा बिहार में नीतीश कुमार को ही मुख्यमंत्री बनायेगी। चुनाव में चाहे भाजपा को कितनी भी सीट आये, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही बनेंगे। अमित शाह ने दावा किया कि नीतीश कुमार ने बिहार में बहुत काम किया है। बिहार में जदयू-भाजपा और उनका गठबंधन तीन-चौथाई सीटें जीतने जा रहा है। कल से लेकर आज तक दिल्ली में बैठे भाजपा नेताओं ने चिराग पासवान पर ताबड़तोड़ हमले किये हैं।

शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर और भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी चिराग पासवान को वोटकटवा करार दिया था। आज अमित शाह खुद मैदान में उतरे हैं। दरअसल, चिराग पासवान ने रणनीति के तहत अपने उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा है। भाजपा सूत्रों के मुताबिक कई सीटों पर चिराग पासवान की पार्टी के उम्मीदवारों के लड़ाई में आने की खबर मिल रही है। ऐसे में भाजपा की बेचैनी बढ़ती जा रही है। लिहाजा एक-एक कर भाजपा के नेता चिराग के खिलाफ बोलने लगे हैं।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)