Wed. Mar 3rd, 2021

Desh Pran

Hindi Daily

लालू को एम्स भेजे जाने के लिए मेडिकल बोर्ड ने दी परमिशन

1 min read

रांची : चारा घोटाला में सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की सेहत में अचानक दो दिनों से आई गिरावट में बहुत अधिक सुधार नहीं आया है। लालू प्रसाद की पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, उनके दोनों पुत्र तेज प्रताप यादव व तेजस्वी यादव के साथ बिटिया मीसा भारती और चिकित्सकों के बीच सलाह-परामर्श हुआ कि इलाज और बेहतर कैसे किया जाए।

इस संबंध में रिम्स में मेडिकल बोर्ड की टीम गठित हुई है। उनका इलाज रिम्स में होगा या फिर एम्स में, इसको लेकर शनिवार को मेडिकल बोर्ड की बैठक हुई । बैठक में लालू को एम्स भेजे जाने के लिए मेडिकल बोर्ड ने दी परमिशन उल्लेखनीय है कि चारा मामले में लालू प्रसाद सज़ायाफ्ता हैं। रांची होटवार जेल से रिम्स में इलाज के लिए कई महीनों से भर्ती हैं। तबीयत गुरुवार को अचानक बिगड़ गई थी। डॉक्टरों ने निमोनिया बताया था।

हेमंत सोरेन से मिलने पहुंचे तेज और तेजस्वी

लालू की तबीयत को लेकर तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मिलने के लिए उनके आवास पहुंचे। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बताया कि उनके पिता लालू प्रसाद की उम्र 70 के आसपास है। शुगर और किडनी के मरीज हैं। क्रिटनीन इधर बढ़ गया है, वहीं निमोनिया भी हो गया है।

डॉक्टरों से लगातार बातचीत हो रही है। वो जैसी सलाह देंगे, उसे माना जायेगा। हमलोग बेहतर से बेहतर इलाज चाहते हैं। आठ सदस्य की हाई लेवल मेडिकल बोर्ड ने लालू यादव के स्वास्थ्य पर चिंता जताते हुए उन्हें एम्स दिल्ली रेफर करने की अनुशंसा कर दी है। इसकी जानकारी जेल आईजी को भी मिल गई है। संबंधित रिपोर्ट पर जेल आईजी का हस्ताक्षर है।

लालू यादव को दिल्ली शिफ्ट किया जाएगा। मेडिकल बोर्ड में आठ अलग-अलग विभाग के एचओडी को शामिल किया गया है। इसमें कार्डियोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. हेमंत नारायण, नेफ्रोलॉजी विभाग की एचओडी डॉ. प्रज्ञा पंत घोष, ऑर्थोपेडिक के डॉ. एलबी माझी, रेडियोलॉजी विभाग के डॉ. सुरेश टोप्पो, नेत्र रोग विभाग के डॉ. बीवी सिन्हा, सर्जरी विभाग के डॉ. आरजी बखला, मेडिसिन विभाग के डॉ. जेके मित्रा और यूरोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. अरशद जमाल शामिल थे।

 

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)