May 19, 2021

Desh Pran

Hindi Daily

अहमदाबाद के सिविल अस्पताल के बाहर एम्बुलेंस में ही होगा कोविड मरीजों का उपचार

अहमदाबाद : महानगर में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने कोरोना रोगियों को डॉक्टर एम्बुलेंस में इलाज करेंगे। जरूरत पड़ने पर ही उन्हें अस्पताल में भर्ती किया जायेगा।

शुक्रवार को राज्य सरकार ने निर्देश दिया है कि एंबुलेंस से आने वाले मरीजों को पहले डॉक्टर एंबुलेंस में ही उसकी हालत देखेंगे। यदि स्थिति गंभीर दिखाई देती है, तो ऐसे रोगी को नारंगी टैग दिया जाएगा। इस नारंगी टैग वाले रोगी को अस्पताल में भर्ती होने में प्राथमिकता दी जाएगी।

जब किसी मरीज की हालत स्थिर होगी उसे एक हरा टैग दिया जाएगा। बताया गया कि ऐसे मरीजों का इलाज डॉक्टर ऑन कॉल सुविधा के तहत किया जायेगा। यदि मरीज को जरूरत पड़ी तो एंबुलेंस में रेमडेसिविर या टोसिलिजुमब इंजेक्शन भी दिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि राज्य में गुरुवार को पहली बार 13,105 नए मामले सामने आए थे, जबकि कोरोना से 137 लोगों की मौत हुई थी। राज्यभर में अब तक कोरोना से 5,877 लोगों की मौत हो चुकी है। शुक्रवार को राज्य में 5,010 लोगों को ठीक होने पर अस्पतालों से छुट्टी दी गई है।

राज्य में अब तक कोरोना से 3,55,875 लोग ठीक हो चुके हैं। राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 92 हजार से अधिक हो गई है। जिनमें से 376 लोग वेंटिलेटर पर हैं और 91,708 लोग स्थिर हैं। राज्य में कोरोना से रिकवरी दर 78.41 प्रतिशत है।

आज अहमदाबाद नगर निगम क्षेत्र में 5142, सूरत में 1958, राजकोट में 697, वडोदरा में 598, मेहसाणा में 444, जामनगर में 334, बनासकांठा में 236, जामनगर में 228, कच्छ में 228, वडोदरा में 214, 183 गांधीनगर में 161 मामले दर्ज किए गए हैं।

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)