May 11, 2021

Desh Pran

Hindi Daily

तिब्बत की आजादी के साथ निकलेगा कैलाश मानसरोवर की मुक्ति का मार्ग: इन्द्रेश कुमार

1 min read

वाराणसी : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य इन्द्रेश कुमार ने सोमवार को एक वर्चुअल संवाद में कहा कि इस विश्व शांति यज्ञ से तिब्बत की आजादी के साथ ही कैलाश मानसरोवर की मुक्ति का मार्ग निकलेगा।

उन्होंने ऑनलाइन कहा कि कैलाश मानसरोवर करोड़ों सनातनियों के लिये पवित्र स्थल है। भारत मठों, पवित्र मंदिरों और वैदिक ज्ञान की वजह से ही विश्व गुरू था। पवित्र धर्मस्थलों की वापसी और वैदिक शिक्षा को बढ़ावा देने से ही भारत नैतिक और आर्थिक रूप से ताकतवर बनेगा।

गौरतलब है कि प्राचीन काल की भारत भूमि एवं पवित्र धर्मस्थलों की वापसी, इस्लामी जेहादियों के आतंक से मुक्ति के संकल्प के साथ सोमवार को काशी में विश्व शांति यज्ञ किया गया।

नरहरपुरा स्थित पातालपुरी मठ में चल रहे 11 दिवसीय हवनात्मक यज्ञ के चौथे दिन हनुमान चालीसा के प्रत्येक चौपाई पर आहूति डालकर अनुष्ठान किया गया। यज्ञ में प्रतिदिन एक धर्मस्थल की वापसी के संकल्प के साथ 108 बार हनुमान चालीसा पढ़कर यज्ञ हवन हो रहा है।

हवनकुण्ड में हनुमान जी की आकृति उभरी

यज्ञ के चौथे दिन कैलाश मानसरोवर की मुक्ति का संकल्प लेकर यज्ञ किया गया। यज्ञ के आयोजकों ने दावा किया कि यज्ञ करते समय हवनकुण्ड में हनुमान जी की आकृति उभरी, इसे देखकर अनुष्ठान करने वाले भाव विभोर हो गये। वहां मौजूद लोगों ने इस आकृति की तस्वीर उतारी। इस दौरान लोग जय सियाराम, जय बजरंग बली का जयकारा भी लगाते रहे।

पातालपुरी मठ के पीठाधीश्वर महंत बालक दास की अध्यक्षता में चल रहे यज्ञ को पांच वैदिक ब्राह्मणों श्रीराम तिवारी, कमलेश दूबे, आनंद मिश्रा, जुगल किशोर तिवारी एवं चन्द्रभूषण पाठक विधि-विधान से शास्त्र सम्मत तरीके से करा रहे है। यज्ञ के मुख्य यजमान के रूप में अयोध्या श्रीराम पीठ के केन्द्रीय व्यवस्था प्रमुख डा० राजीव श्रीवास्तव, विशाल भारत संस्थान की महासचिव अर्चना भारतवंशी, सुभाष मंदिर की पुजारी खुशी रमन भारतवंशी, दलित परिवार के रणधीर राव एवं उनकी पत्नी रेखा देवी है।

मुस्लिम देश भी इस्लामी जेहादियों के आतंक से पीड़ित

इस दौरान पातालपुरी मठ के महंत बालक दास ने कहा कि मुस्लिम देश भी इस्लामी जेहादियों के आतंक से पीड़ित हैं। इस्लामी जेहादी पूरे विश्व पर कब्जा कर इस्लाम फैलाना चाहते हैं और उनको चीन का साथ मिल रहा है। इस यज्ञ से भारत को शक्ति प्राप्त होगी और हनुमान जी असुरी शक्तियों का नाश अवश्य करेंगे।
हवनात्मक यज्ञ में अर्चना भारतवंशी, इली भारतवंशी, उजाला भारतवंशी, संदीप चौरसिया, रवि जायसवाल, गुलाब दास साहू, अभिषेक जायसवाल, जयशंकर प्रसाद गुप्ता आदि ने आहूति डाली।

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)