May 11, 2021

Desh Pran

Hindi Daily

झारखंड: अस्पतालों के ओपीडी आज रहेंगे बंद, इमरजेंसी में वैकल्पिक व्यवस्था

 जमशेदपुर :  कोलकाता में चिकित्सकों पर हुए हमले के खिलाफ सोमवार को पूर्वी सिंहभूम जिले के सभी अस्पताल, नर्सिंग होम की ओपीडी सेवा बंद रहेगी। यह आह्वान इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और झारखंड स्टेट हेल्थ सर्विस एसोसिएशन ने किया है। 17 जून की सुबह 6 बजे से 18 जून की सुबह छह बजे तक चिकित्सक अपने काम का बहिष्कार करते हुए ओपीडी में नहीं बैठेंगे। इससे जिले के लगभग 10 हजार से ज्यादा मरीजों के प्रभावित होने की आशंका है।

 

ओपीडी सेवा के बंद रहने से उसका सीधा भार अस्पताल और नर्सिंग होम की इमरजेंसी सेवाओं पर पड़ेगा। एमजीएम अस्पताल की इमरजेंसी में प्रतिदिन 50 से ज्यादा मरीज आते हैं। संभावना है कि यह संख्या दोगुनी हो सकती है। इसके अलावा वार्ड में भी वरीय चिकित्सकों को अपनी सेवा देने का निर्देश दिया गया है।

 

प्रिंसिपल ने की बैठक

रविवार को इसे लेकर एमजीएम अस्पताल में अस्पताल का प्रभार संभाल रहे एमजीएम मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल डॉ. एसी अखौरी ने वरीय चिकित्सकों व विभागाध्यक्षों के साथ बैठक की। बैठक में अस्पताल उपाधीक्षक नकुल चौधरी भी उपस्थित थे। सभी को निर्देश दिया कि इजरजेंसी में ज्यादा से ज्यादा चिकित्सक रहें, क्योंकि ओपीडी बंद होने से इसका भार इमरजेंसी पर ही पड़ने वाला है। इसके अलावा सभी वार्ड भी खुले रहेंगे। सदर अस्पताल में भी इमजरेंसी में ही वैकल्पिक व्यवस्था होगी।

 

टीएमएच में काला बिल्ला लगायेंगे चिकित्सक

टीएमएच में हउ़ताल को लेकर सुबह नौ बजे अस्पताल महाप्रबंधक की ओर से एक बैठक बुलायी गयी है। उसके बाद ही वहां कोई निर्णय होगा। लेकिन अस्पताल के चिकित्सक काला बिल्ला लगाकर जरूर रहेंगे।

 

चिकित्सक निकालेंगे जुलूस

एमजीएम अस्पताल परिसर में शहर के सभी चिकित्सक सोमवार को एकत्रित होंगे। यहां से सभी जुलूस के रूप में उपायुक्त कार्यालय तक जायेंगे जहां अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपेंगे।

 

ओपीडी की स्थिति

  • 1200 मरीज प्रतिदिन आते हैं एमजीएम अस्पताल में
  • 400 मरीज सदर अस्पताल के ओपीडी में आते हैं
  • 30 प्रमुख नर्सिंग होम हैं शहर में
  • 4000 लगभग मरीजों का इलाज इनके ओपीडी में होता है
  • 9 पीएचसी, 16 एपीएचसी और 242 एचएससी जिले में है जहां ओपीडी भी चलती है
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)