Fri. Aug 7th, 2020

झारखंड विधानसभा : 2019 में 81 में 44 विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले

रांची : झारखंड विधानसभा 2019 के चुनाव में चुने गए 81 विधायकों में से 44 विधायक पर आपराधिक मामले दर्ज हैं, जिसमें एक विधायक पर सबसे अधिक 14 केस दर्ज हैं। 34 विधायकों पर गंभीर आरोप हैं। यह जानकारी सभी विधायकों अपने शपथ पत्र में नामांकन के समय दी है।
झारखंड मुक्ति मोर्चा के 30 में से 17 विधायकों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। भाजपा के 25 में से 12 और कांग्रेस के 16 में से 8 विधायकों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं।

झारखंड विकास मोर्चा के तीनों विधायक, भाकपा माले का एक और राजद के भी एक विधायक पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। प्रतिशत के लिहाज से देखें तो कांग्रेस के 50 प्रतिशत, झामुमो के 40 प्रतिशत और लगभग उतने ही भारतीय जनता पार्टी के विधायकों पर आपराधिक मामले दर्ज हैैं। झारखंड विधानसभा 2014 के 81 विधायक में से 54 विधायकों पर आपराधिक मामले वाले थे। कुल मिलाकर 76 आपराधिक मामले दर्ज हैं।

76 में 14 मामलों का निष्पादन

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व आदेश के आलोक में झारखंड हाईकोर्ट में विधायक, पूर्व विधायक और सांसदों पर दर्ज आपराधिक मामलों के शीघ्र निष्पादन को लेकर जनहित याचिका दायर की गयी। हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद भी समय सीमा में विधायकों पर दर्ज आपराधिक मामले की सुनवाई पूरी नहीं हो सकी। हाईकोर्ट के आदेश पर सरकार के द्वारा अदालत में शपथ पत्र के माध्यम से जानकारी दी गई थी कि 76 में से 14 मामले का निष्पादन किया गया है, जबकि 62 मामले अभी लंबित हैं। विभिन्न अदालतों में मामले पर सुनवाई चल रही है। जिन 14 मामले का निष्पादन किया गया है, उसमें से 10 मामलों में विधायकों को बरी कर दिया गया है, जबकि 4 मामले में सजा दी गई है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)