Sun. Jan 17th, 2021

जामताड़ा सड़क दुर्घटना : छठ मनाने बिहार जा रहे एक ही परिवार के चार सदस्यों की मौत, दो मासूम चमात्कारिक रूप से बचे

1 min read

जामताड़ा : जामताड़ा में हुई सड़क दुर्घटना में एक परिवार के चार सदस्यों की मौत हो गई। हादसे में दो बच्चे बाल-बाल बच गए। यह सभी लोग छठ मनाने बिहार जा रहे थे।

बताया गया कि रविवार काे धनबाद से कार से मिश्रा परिवार के छह लोग छठ मनाने के लिए बिहार के कटिहार जिला के रोनिया गांव जा रहे थे। इसी दौरान दोपहर लगभग एक बजे साहिबगंज-गोविंदपुर हाईवे पर बोधबांध गांव के पास विपरीत दिशा से आ रही पिकअप वैन ने उनकी कार को जोरदार टक्कर मार दी। आमने सामने की हुई टक्कर में कार सवार विश्वनाथ मिश्रा व उनकी पत्नी नीता मिश्रा की तत्काल मौत हो गई।

वहीं, उनके बेटे सुमित मिश्रा गाड़ी में बुरी तरह से फंस गए। सुमित ही गाड़ी ड्राइव कर रहा था। लगभग एक घंटे की मशक्कत के बाद सुमित को गैस कटर से गाड़ी का दरवाजा काटकर बाहर निकाला गया। तब तक उसकी मौत हो गई थी। वहीं सुमित की पत्नी रागिनी मिश्रा की स्थिति गंभीर बनी हुई थी, जिसे तत्काल सदर अस्पताल ले जाया गया और वहां से प्राथमिक उपचार के बाद धनबाद रेफर कर दिया गया। लेकिन धनबाद जाने के क्रम में गोविंदपुर पहुंचते-पहुंचते उनकी भी मौत हो गई। घटना में सुमित के दोनों बच्चे पुत्री खुशी (4) और 3 वर्षीय बेटा बाल-बाल बच गये। दोनों को हल्की चोटें आई है।

हादसा के समय वाहन के पीछे जिला परिषद अध्यक्ष दीपिका बेसरा अपने परिवार के साथ जा रही थीं। उन्होंने घटना की सूचना स्थानीय प्रशासन को दी और थाने को सूचित किया। साथ हीं उन्होंने 108 एंबुलेंस को भी सूचना दी। अपने परिजनों के सहयोग से घायल दोनों बच्चों को बाहर निकाला। टक्कर की जोरदार आवाज सुनकर आसपास के गांव वाले मौके पर पहुंच गए बचाव कार्य शुरू किया। ग्रामीणों के सहयोग से गाड़ी में सवार लोगों को बाहर निकाला गया।

जानकारी के अनुसार विश्वनाथ मिश्रा आर्मी से रिटायर्ड सैनिक थे। वर्तमान में धनबाद डीआरएम ऑफिस में कार्यरत थे। वहीं, उनका बेटा धनबाद में किसी फाइनेंस कंपनी में कार्यरत था। जानकारी मिलने के बाद विश्वनाथ मिश्रा के नजदीकी रिश्तेदार गिरिडीह से जामताड़ा सदर अस्पताल पहुंच गए।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)