Wed. Aug 12th, 2020

इंडियन ऑयल बोर्ड ने एकीकृत पीएक्स-पीटीए परिसर निर्माण को दी मंजूरी

1 min read

बेगूसराय : इंडियन ऑयल बोर्ड ने पारादीप में 13805 करोड़ रुपये की अनुमानित निवेश लागत से एकीकृत पैरा-एक्सलीन (पीएक्स) और शुद्धिकृत टेरेफ्थिक एसिड (पीटीए) परिसर के कार्यान्वयन के लिए मंजूरी प्रदान कर दी है।

इंडियन ऑयल के अध्‍यक्ष एस.एम. वैद्य ने कहा कि इस संयंत्र से पारादीप में 357 केटीए क्षमता के निर्माणाधीन एमईजी (मोनो-ईथीलीन ग्‍लाइकोल) संयंत्र के साथ ओडिशा के भद्रक में इंडियन ऑयल की निर्माणाधीन 300 केटीए कपड़ा यार्न विनिर्माण परियोजना के लिए फीडस्टॉक का स्रोत तैयार होगा।

यह निवेश अन्य डाउनस्ट्रीम परियोजनाओं में निवेश के साथ संपूर्ण पूर्वी भारत में उद्यमिता को बढ़ावा तथा आत्मनिर्भर भारत और मेक इन इंडिया में योगदान देंगे। पीएक्स-पीटीए परिसर 2024 के प्रारंभ में पूरा हो जाएगा। पेट्रो रसायन परिसर में प्रतिवर्ष आठ लाख टन की पीएक्‍स उत्‍पादन क्षमता होगी, जो पीटीए उत्पादन के लिए फीडस्टॉक होगा तथा पीटीए की उत्पादन क्षमता प्रतिवर्ष 12 लाख टन होगी।

इंडियन ऑयल की एमईजी उत्पादन सुविधा पारादीप में पहले से ही लागू है और यह 2021 के अंत में चालू हो जाएगी। इसकी जानकारी देते हुए कॉर्पोरेट संचार अधिकारी अंकिता श्रीवास्तव ने शनिवार को बताया कि पारादीप में पीटीए और एमईजी दोनों की उपलब्धता से आसपास के क्षेत्र में पॉलिएस्टर विनिर्माण सुविधाओं को बढ़ावा मिलेगा।

इसके अलावा प्रतिवर्ष 50 हजार टन टोल्यूइन का उत्पादन भी किया जाएगा। पीटीए पॉलिएस्टर फाइबर/यार्न, पीईटी बॉटल और पॉलिएस्टर फिल्म के निर्माण के लिए एक प्रमुख कच्चा माल है, जिसका उपयोग पैकेजिंग अनुप्रयोगों में किया जाता है। पीटीए और एमईजी संयुक्त पॉलिएस्टर निर्माण के लिए मुख्य फीडस्‍टॉक हैं। पारादीप के पेट्रोलियम, रसायन और पेट्रो रसायन निवेश क्षेत्र (पीसीपीआईआर) में विश्व स्तरीय गुणवत्ता वाले ये दोनों फीडस्टॉक एक ही जगह पर उपलब्ध होंगे।

उन्होंने बताया कि इंडियन ऑयल ने फरवरी 2019 में 3150 करोड़ रुपये की लागत से 68 हजार टन प्रति वर्ष की क्षमता वाला एक विश्व-स्तरीय पॉलीप्रोपाइलीन (पीपी) संयंत्र चालू किया है। डाउनस्ट्रीम पॉलीमर उद्योग पीपी का उपयोग सीमेंट और उर्वरक बैग, पैकेजिंग फिल्म, घरेलू फर्नीचर, आदि जैसे उपयोगी उत्‍पादों के साथ-साथ खाद्य उत्पादों के कंटेनरों, मेडिकल एप्‍लीकेशनों आदि जैसे नए उत्‍पादों के निर्माण के लिए होता है।

पीएक्स-पीटीए परियोजना के चालू होने से प्रचालन, यूनिटों के रखरखाव और उत्पाद मूल्य श्रृंखला के रखरखाव में दो हजार से अधिक तकनीकी रूप से कुशल, अर्ध-कुशल और अकुशल लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार के अवसर मिलेंगे तथा करीब पांच मिलियन मानव दिवस रोजगार का सृजन होने का अनुमान है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)