Fri. Aug 7th, 2020

पाकिस्तान को 4-0 से हरा कर भारत ने क्वालीफायर टिकट पाया

1 min read

नूर सुल्तान : अनुभवी लिएंडर पायेस और जीवन नेदुनचेझियन के युगल मुकाबला जीतने के साथ ही भारत ने शनिवार को पाकिस्तान को डेविस कप एशिया ओसनिया जोन ग्रुप एक के पहले राउंड के मुकाबले में 4-0 से पीटकर 2020 क्वालीफायर का टिकट हासिल कर लिया। भारत ने इस तरह पाकिस्तान से डेविस कप में लगातार सातवां मुकाबला जीत लिया।

नूर सुल्तान के नेशनल टेनिस सेंटर के हार्ड कोर्ट पर रामकुमार रामनाथन ने कल पहले एकल मैच में मोहम्मद शोएब को 6-0, 6-0 से और दूसरे एकल मैच में सुमित नागल ने हुजैफा अब्दुल रहमान को 6-0, 6-2 से हरा कर भारत को 2-0 की बढ़त दिलाई थी। आज युगल मैच में 46 वर्षीय लिएंडर पायेस और जीवन नेदुनचेझियन की जोड़ी ने हुजैफा और शोएब की जोड़ी को मात्र 53 मिनट में 6-1, 6-3 से हरा दिया। चौथे मैच में नागल ने युसफ खलील को 6-1, 6-0 से धो दिया।

भारत के 4-0 की बढ़त बनाने के बाद पांचवां मैच नहीं खेला गया। भारतीय टीम अब 2020 में 6-7 मार्च को दो बार के चैंपियन क्रोएशिया से क्वालीफायर मुकाबला क्रोएशिया की जमीन पर खेलेगी। भारत यदि क्वालीफायर जीतता है तो उसके पास डेविस कप फाइनल्स में खेलने का मौका रहेगा। 24 टीमों के क्वालीफायर्स की 12 विजेता टीमें उन छह टीमों के साथ फाइनल्स में जुड़ेंगी जो फाइनल्स में जगह बना चुके हैं।

इन छह टीमों में 2019 के सेमीफाइनलिस्ट स्पेन, कनाडा, ब्रिटेन, रूस तथा 2020 के वाइल्ड कार्ड फ्रांस और सर्बिया शामिल हैं। हारने वाली 12 टीमें सितम्बर 2020 में विश्व ग्रुप एक मुकाबला खेलने लौटेंगी। पेस पिछले साल डेविस कप इतिहास के सबसे सफल युगल खिलाड़ी बने थे। उन्होंने डेविस कप में 44वां युगल मैच जीतकर अपने डेविस कप रिकॉर्ड में सुधार किया।

उन्होंने 57 डेविस कप मुकाबलों में 44 युगल मैच जीते हैं। डेविस कप में उनकी अब कुल 92 जीत हो गयी हैं जिसमें 48 एकल जीत भी शामिल हैं। वह डेविस कप के सबसे सफल खिलाड़ियों में 92-35 के जीत-हार रिकॉर्ड के साथ पांचवें स्थान पर हैं। इस जीत के साथ फरवरी 2014 के बाद यह पहला मौका है जब भारत ने मुकाबले के सभी मैच जीते हैं।

भारत ने तब चीनी ताइपे को इंदौर में 5-0 से हराया था। अपने शीर्ष खिलाड़ियों ऐसाम उल हक कुरैशी और अकील खान के इस मुकाबले से हट जाने के बाद पाकिस्तान ने एक युवा टीम भारत के खिलाफ उतारी जिसमें उसके खिलाड़ियों के पास कोई अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग नहीं थी और यह टीम चार मैचों में मात्र सात गेम ही जीत सकी। भारत ने यह मुकाबला आसानी से जीता और पाकिस्तान पर डेविस कप के इतिहास में लगातार सातवीं जीत दर्ज की

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)