Wed. Oct 21st, 2020

शहर के कई क्षेत्रों मे अब भी अमानक रेडिमेड गतिरोधक लगे होना आश्चर्यजनक

रतलाम : न्यायालय के आदेशों के विपरित अमानक रेडिमेड गतिरोधक शहर के कई क्षेत्रों मे अब भी लगे हुए हैं, यह प्रशासन एवं नगर निगम की घोर लापरवाही दर्शाता है। अमानक गतिरोधक शहर के कुछ हिस्सों से आम विरोध के चलते प्रशासन ने हटाकर अपनी भूल सुधारने का संदेश दिया था किन्तु शहर के कुछ हिस्सों जैसे नगर निगम के सामने, पूर्णेश्वर महादेव मंदिर के सामने श्रीमालीवास तथा न्यायालय के सामने , मित्र निवास रोड़ सहित कई क्षेत्रों मे अब भी जानलेवा गतिरोधक स्थापित है।

भाजपा जिला मीडिया प्रभारी अरुण राव ने गुरुवार को शहर के कुछ हिस्सों से जानलेवा गतिरोधक न हटाये जाने पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए आरोप लगाया है कि जिला यातायात तथा नगर निगम प्रशासन शहर मे किसी बड़ी दुर्घटना का इंतजार कर रहा है ?

राव ने कहा कि यह कितना हास्यास्पद है कि शहर के कुछ हिस्सों से जानलेवा गतिरोधक शायद प्रशासन ने इसलिए हटा दिये क्योकि वह एक तरफ न्यायालय द्वारा निर्देशित मानक के अनुरूप नही थे तो दूसरी तरफ ऐसे गतिरोधक किसी गम्भीर दुर्घटना का कारण भी बन सकते थे, तो क्या प्रशासन की नजर मे एक ही प्रकार के जानलेवा गतिरोधक शहर के किसी क्षेत्र मे जानलेवा हो सकते है तो दूसरे किसी क्षेत्र मे वही गतिरोधक सुरक्षित हो जाते है ? और क्या प्रशासन इस बात का जवाब देगा कि एक ही प्रकार के अमानक जानलेवा गतिरोधक एक क्षेत्र मे न्यायालय के आदेशो का उल्लंघन करते है तो दूसरे क्षेत्र मे वह न्यायालय के आदेशो का सम्मान करते है ?

इस संबंध में राव ने जिलाधीश , जिला पुलिस अधीक्षक तथा नगर निगम आयुक्त को पत्र लिखकर शहर के कुछ हिस्सों मे अब भी लगे हुए जानलेवा गतिरोधकों को अविलंब हटाये जाने का आग्रह किया है तथा मांग की है कि अगर प्रशासन यातायात को नियंत्रित करने के लिए शहर के कुछ हिस्सों मे गतिरोधक की आवश्यकता महसूस करता है तो न्यायालय द्वारा निर्देशित मानक के अनुरूप गतिरोधक निर्माण करवाने की पहल करें।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)