Tue. Oct 27th, 2020

बोनस नहीं तो रेल का चक्का जाम :शिवगोपाल मिश्रा

धनबाद : रेलवे की सबसे बड़ी यूनियन आल इंडिया रेलवे मेन्स फैडरेशन की स्टैंडिग कमेटी की बैठक में बोनस के लिए महत्वपूर्ण प्रस्ताव रखा गया है। इसमें महामंत्री शिव गोपाल मिश्रा ने कहा कि अगर 21 अक्टूबर तक बोनस का ऐलान नहीं किया गया तो 22 अक्टूबर को रेल का चक्का जाम किया जाएगा।

इसके अलावा 20 अक्टूबर को देश भर में बोनस दिवस मनाते हुए धरना प्रदर्शन किया जाएगा। उक्त जानकारी देते हुए ईसीआरकेयू के अपर महामंत्री डी. के पांडेय ने शनिवार को मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय भवन स्थित यूनियन कार्यालय में उपस्थित रेलकर्मियों को बताया कि पूर्व निर्धारित समय के अनुसार शुक्रवार को एआईआरएफ की स्टैडिंग कमेटी की बैठक में बोनस, निजीकरण, निगमीकरण, पुरानी पेंशन की बहाली, डीए, नाइट ड्यूटी एलाउंस, एक्ट अप्रैंटिस के समायोजन, सैल्यूट और मान्यता के चुनाव समेत तमाम मुद्दों पर चर्चा हुई। फेडरेशन के महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा ने मीटिंग में बताया कि इन तमाम मुद्दों पर लगातार रेलमंत्री, बोर्ड के सीईओ समेत सरकार के विभिन्न मंत्रियों और सचिवों से बात हो रही है।

बातचीत में तो हर मंत्री और अफसर फेडरेशन की मांग का समर्थन करते हैं। लेकिन आदेश जारी नहीं हो रहा है, इससे कर्मचारियों में भारी आक्रोश है।उन्होंने बताया गया कि रेल मंत्रालय ने बोनस देने का प्रस्ताव वित्त मंत्रालय को भेज दिया है और यह फाइल वहीं लंबित है। बैठक में तय किया गया कि 20 अक्टूबर को देश भर में ” बोनस डे ” मनाया जाएगा, इस दौरान शाखा से लेकर जोन स्तर पर धरना, प्रदर्शन,रैली का आयोजन किया जाएगा।

इसके साथ ही सरकार को 21 अक्टूबर तक का समय दिया गया है। इस दौरान अगर बोनस का ऐलान नहीं किया गया तो 22 अक्टूबर को सीधी कार्रवाई करते हुए रेल का चक्का जाम कर दिया जाएगा। इस अवसर पर पांडेय ने कहा कि बोनस हमारा हक है और उत्पादकता पर आधारित बोनस है, मतलब साफ है कि रेल कर्मचारियों ने इसे अपनी मेहनत से कमाया है।

रात्रि भत्ते पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में सभी जोन के महामंत्रियों ने कहा है कि अगर नाइट ड्यूटी एलाउंस नहीं दिया जाता है तो फिर कर्मचारियों से नाइट ड्यूटी भी तत्काल बंद कराई जानी चाहिए।

नाइट ड्यूटी एलाउंस को फेडरेशन ने काफी संघर्ष के बाद हासिल किया है, इस पर किसी तरह का समझौता स्वीकार नहीं है। धनबाद स्थित यूनियन के प्रेम कार्यालय में मौके पर केन्द्रीय कोषाध्यक्ष मो. ज़्याउद्दीन, केन्द्रीय उपाध्यक्ष वी. डी. सिंह, सहायक महामंत्री ओमप्रकाश, केन्द्रीय संगठन मंत्री पी. के. मिश्रा, जोनल सेक्रेटरी ओ. पी. शर्मा, सोमेन दत्ता, आर. एन. चौधरी, पी. के. सिंह, आई. एम. सिंह, कमल किशोर समेत कई रेलकर्मी उपस्थित थे।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)