Wed. Aug 12th, 2020

रोजगार : जल में तैरती लाखों रुपये की कमाई

06.03.2019

रांची : राज्य की अर्थव्यवस्था एवं ग्रामीण विकास में जिला मत्स्य विभाग रांची मील का पत्थर साबित हो रहा है। मत्स्य विभाग मत्स्य पालकों के सामाजिक उत्थान एवं इनके रोजगार की अपार संभावनाओं को नयी राह प्रदान करने के लिए प्रखंड स्तर पर अनेक योजनाओं को कियान्वित कर रहा है। ऐसे में मछली पालक आधुनिक व परम्परागत तरीकों के साथ रोजगार का सृजन कर आय में अपार वृद्धि की संभावनाएं व्यक्त कर रहे हैं। जिससे कि मत्स्य कृषक आत्मनिर्भर हो रहे हैं, वहीं गांव के दूसरे युवा भी इस रोजगार से जुड़ रहे हंै।

रांची जिला मत्स्य पदाधिकारी सह मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी डॉ. अरुप कुमार चौधरी ने कहा कि राज्य के किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैं। राज्य मत्स्य विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं का लाभ लेकर मत्स्य पालन किसान अतिरिक्त आमदानी अर्जित कर आर्थिक रूप से संबद्धता प्राप्त कर रहे हैं। मछली पालक कृषक की जिंदगी बेहतर हो सके। इसके लिए राजधानी समेत पूरे राज्य में प्रशिक्षिण केन्द्र की स्थापना कर उन्हें नवीन तकनीकी उपकरण से प्रशिक्षित करने का कार्य बखूबी निभाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विभाग की पहल से राज्य के मछली पालन किसानों को मछली उत्पादन से लाभ तो मिला ही है। साथ ही किसानों के लिए मत्स्य पालन संजीवनी साबित हो रही है। मत्स्य पालन मत्स्य बीज जल ग्रहण क्षमता एवं जल क्षेत्र उपलब्धता के आधार पर कृषकों के तालाबों में संचय कराकर वैज्ञानिक ढंग से मत्स्य पालन के लिए प्रोत्साहित करने का कार्य किया जा रहा है।

4 thoughts on “रोजगार : जल में तैरती लाखों रुपये की कमाई

Comments are closed.

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)