Sat. Jan 23rd, 2021

दुमका विधानसभा उप चुनाव का शांतिपूर्ण संपन्न

1 min read

65.27 प्रतिशत मतदाताओ ने किया मताधिकार का प्रयोग

दुमका : दुमका विधानसभा उप चुनाव का मतदान बिना किसी हिंसक घटना के शांतिपूर्ण संपन्न हो गया है। इसके साथ ही महागठबंधन के प्रत्याशी बसंत सोरेन, भाजपा प्रत्याशी लुईस मरांडी समेत 12 प्रत्याशियो के भाग्य का फैसला ईवीएम मे सील हो गया।

दुमका विधानसभा उप चुनाव के शांतिपूर्ण संपन्न होने पर जिला प्रशासन ने राहत की सांस ली है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त दुमका राजेश्वरी बी ने बताया कि दुमका विधानसभा उप चुनाव मे 65.27 प्रतिशत मतदाताओ ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया ।

जबकि 2019 के विधानसभा चुनाव में मतदान प्रतिशत 66.89 प्रतिशत था। दुमका विधानसभा के लिए सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक मतदान हुआ। प्रातः 9 बजे तक 13.89 प्रतिशत मतदाताओ ने वोट डाले।

वही 11 बजे तक मतदान का प्रतिशत 32.62, दोपहर एक बजे तक 46.96 तथा 3 बजे तक 59.19 प्रतिशत मतदाताओ ने अपने मताधिकार का प्रयोग कर लिया था।उन्होंने बताया कि दुमका उप चुनाव में नगरपालिका क्षेत्र का मतदान का प्रतिशत 48 प्रतिशत तथा दुमका ग्रामीण में 65.82 प्रतिशत रहा।

वही दुमका प्रखंड में 61.36 प्रतिशत, मसलिया प्रखंड 71.95 प्रतिशत रहा। उप चुनाव के लिए कुल 368 मतदान केंद्र बनाए गए थे। उन्होंने बताया कि पीडब्ल्यूडी के कुल मतदाता 2910 मे से 95.84 प्रतिशत मतदाताओ ने मतदान किया। उनमें 312 लोगों ने पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान करने का विकल्प चुना।

जिनमें 274 मतदाताओं ने पोस्टल बैलट के माध्यम से मतदान किया है।वहीं 2598 मतदाताओं ने मतदान केंद्र पहुंचकर मतदान करने का विकल्प चुना। 2598 में से 2515 मतदाताओं ने मतदान केंद्र पहुँच कर मतदान किया। जिनमें 1607 पुरुष मतदाता तथा 908 महिला मतदाता शामिल हैं।

शहरी क्षेत्र के वनिस्पत ग्रामीण क्षेत्रो में मतदाताओं में काफी उत्साह देखने को मिला। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि मॉक पोल के दौरान एक बैलट यूनिट, तीन कंट्रोल यूनिट तथा तीन वीवीपैट बदले गए,वहीं मतदान के दौरान एक बैलट यूनिट एक कंट्रोल यूनिट तथा तीन वीवीपैट बदले गए।सूचना भवन सभागार में आयोजित प्रेस वार्ता में जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त राजेश्वरी बी ने कहा कि सभी के सहयोग से विधानसभा उप चुनाव को सफलतापूर्वक संपन्न कराने में हम सफल हुए हैं।

चुनाव कार्य में लगे सभी पदाधिकारियों, कर्मियों को धन्यवाद, सभी ने आपस मे समन्वय बनाकर उप चुनाव को कोविड-19 के दौरान भी बेहतरीन ढंग से संपन्न कराया है। उन्होंने कहा कि मीडिया के प्रतिनिधियों को भी तहे दिल से धन्यवाद जिन्होंने हर जरूरी जानकारी जन जन तक पहुंचाने का कार्य किया है।

उन्होंने कहा कि चुनाव को बेहतर ढंग से संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन द्वारा सारी तैयारियां की गई थी। सुरक्षा के व्यापक इंतेजाम किये गए थे। कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए मतदान केंद्रों पर थर्मल स्कैनर के साथ-साथ सैनिटाइजर मास्क भी रखा गया था। उन्होंने कहा कि सुरक्षाबलों के जवानों को भी मैं धन्यवाद देती हूं।

सुरक्षा बल के जवानों ने हमेशा की भांति अपने कर्तव्यों का निर्वहन पूरी तत्परता से किया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक अंबर लकड़ा ने कहा को कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए कई सहायक मतदान केंद्र बनाए गए थे।सभी मतदाताओं ने कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए अपने मताधिकार का प्रयोग किया है।

उन्होंने बताया कि मतदान कार्य में लगे सुरक्षा बल के जवानों में 20 प्रतिशत सुरक्षा बल के जवान जिला के थे। इसके अतिरिक्त सभी सुरक्षा बल के जवानों की प्रतिनियुक्ति उप चुनाव को ध्यान में रखते हुए की गयी थी।

भाजपा प्रत्याशी डॉक्टर लुईस मरांडी ने यह दावा किया कि हमारी जीत पक्की है। उन्होंने कहा कि भाजपा हमेशा जनता से जुड़ी रहती है और जनता का विश्वास इस बार उनके साथ है। झामुमो प्रत्याशी बसंत सोरेन ने कहा कि जनता में वोटिंग के प्रति काफी उत्साह नजर आया। वह अपने जनप्रतिनिधि को चुनने के लिए काफी सजग दिखे। बसंत सोरेन ने कहा कि जनता का रुझान झारखंड मुक्ति मोर्चा की तरफ है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)