Wed. Oct 28th, 2020

देवघर सदर अस्पताल में मरीज की मौत

 अस्पताल प्रबंधन पर लगा लापरवाही का आरोप, परिजनों की किया जमकर हंगामा

देवघर : देवघर सदर अस्पताल हमेशा से ही अपने अव्यवस्था के कारण सुर्खियों में रहा है। रविवार को एक और मामले में देवघर सदर अस्पताल की लापरवाही सामने आयी है।

सरैयाहाट के चिकनया गांव के रहने वाले मणिकांत ठाकुर जिसकी उम्र 40 वर्ष है, आठ दिन पूर्व एक दुर्घटना में घायल हो गए थें। जिसके बाद इन्हें बेहतर इलाज के लिए देवघर सदर अस्पताल में भर्ती किया गया था। आज सुबह अचानक उनकी तबीयत बिगड़ी और थोड़ी ही देर मौत हो गयी।

परिजनों ने आरोप लगाया कि मरीज को दवा और इंजेक्शन की जरूरत थी, जो अस्पताल में उपलब्ध नहीं था। तबियत बिगड़ने के बाद मरीज को दवा देने की बजाए एक वार्ड से दूसरे वार्ड में घुमाया जाने लगा। इसी दरमियान मणिकांत ठाकुर की मौत हो गई। मौके पर देवघर नगर निगम के पार्षद रवि राउत पहुंचे ।

रवि ने कहा कि यह सरासर अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही है । इस प्रकरण को लेकर मुख्यमंत्री डीसी और सिविल सर्जन से शिकायत भी की है। परिजनों का भी कहना है कि अगर समय पर दवा और इंजेक्शन मिल गया होता तो मणिकांत ठाकुर की जान बच जाती है। लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने इसे संजीदगी से नहीं लिया।

अस्पताल प्रबंधन पर परिजनों ने घोर लापरवाही का आरोप लगाया है। बहरहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया गया और इस मामले में परिजन अस्पताल के डाक्टरों व प्रबंधन के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने की तैयारी में हैं।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)