Wed. Oct 28th, 2020

लोहरदगा में पांचवें दिन कर्फ्यू में दो घंटे की ढील, सौ लोग हिरासत में

जरूरी सामानों की खरीदारी के लिए दुुुुुुुुकानों पर लगी भीड़

स्थिति का आकलन करने के बाद बढ़ सकती है ढील की अवधि

रांची : लोहरदगा में पांंच दिन से लगे कर्फ्यू में सोमवार को भी दो घंटे की ढील दी गयी। प्रशासन ने उपद्रव के मामले में 100 सौ लोगों को हिरासत में लिया है। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। प्रशासन स्थिति का आकलन करने के बाद कर्फ्यू की अवधि बढ़ाने पर भी विचार कर रहा है।

इसे भी पढ़ें : रांची में यातायात नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं युवा

सोमवार को कर्फ़्यू में सुबह 10 से 12 बजे तक के लिए छूट दी गई है। इस दौरान एक जगह पर चार से अधिक व्यक्तियों के एकत्र होने पर प्रतिबंध रहा। कर्फ्यू में ढील के दौरान पूरे क्षेत्र में निषेद्याज्ञा लागू रही। सोमवार को एसपी प्रियदर्शी आलोक ने बताया कि प्रशासनिक तौर पर स्थिति की समीक्षा की गई है। हालात शांतिपूर्ण होने पर दो घंटेे के लिए लोगों को कर्फ्यू में छूट दी गई है, जिससे की लोग अपने दैनिक उपयोग के जरूरत के सामान, दवाई, राशन, दूध व सब्जी आदि खरीद सकें। उन्हाेेंने बताया कि शहर व ग्रामीण इलाकों में कर्फ्यू में छूट के बाद हालात का आकलन किया जायेगा और उसके बाद प्रशासन कर्फ़्यू में छूट की अवधि बढ़ाने पर निर्णय लेगा। आईजी नवीन कुमार सिंह ने बताया कि दंगा और आगजनी करने के मामले में एक सौ से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया हैैै। उन्होंने बताया कि हिरासत में लिये हुये लोगों से पूछताछ की जा रही है।

इसे भी पढ़ें : लालू यादव से पहली बार जेल में मिलीं पत्नी राबड़ी और बेटी मीसा

उल्लेखनीय है कि लोहरदगा में गुरुवार को सुबह 11 बजे नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के समर्थन में निकली रैली पर विरोधी गुट के लोगों ने पथराव किया था। इसके बाद उपद्रवियों ने बड़े पैमाने पर आगजनी भी की थी। उपायुक्त और एसपी की मौजूदगी में उपद्रव कर रहे लोगों को नियंत्रित करने के लिये पुलिस ने आंसू गैस के बाद फायरिंग भी की थी। प्रशासन ने स्थिति पर नियंत्रण करने के लिये कर्फ्यू लगा दिया गया था।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)