Wed. May 27th, 2020

बोकारो में कोरोना का दहशत

1 min read

बोकारो : कोरोना वायरस से बढ़ते प्रकोप और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से जारी किए गए एहतियाती उपाय के बाद इसे लेकर लोगों में भारी दहशत देखा जा रहा है। लोग एक तरफ जहां सुरक्षा के तमाम उपाय करने में लगे हैं, वहीं आने वाले दिनों में परेशानियों की महज आशंका में आनन-फानन में महीने भर के राशन वगैरह भी जुटाने में लगे हैं। चास-बोकारो की राशन दुकानों में लगी भीड़-भाड़ इस बात का प्रमाण भी है। आटा मिलों में अचानक आउट आफ स्टाक की स्थिति है तो सब्जी दुकानदारों के यहां आलू-प्याज की शार्टेज हो गयी है।

दूसरी तरफ स्कूल-कालेजों की बंदी के बाद अब शहर के प्रमुख मंदिरों में शुमार सेक्टर-4 स्थित श्री जगन्नाथ मंदिर और सेक्टर-5 के श्री अयप्पा मंदिर को अनिश्चितकाल के बंद कर दिया गया है। शुक्रवार से इन दोनों मंदिरों को अनिश्चितकालीन तक के लिए बंद कर दिया गया है। अयप्पा सेवा संघम के अध्यक्ष के आदेशानुसार चिपकाए गए नोटिस में कहा गया है कि देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए जनता की सुरक्षा के ख्याल से श्री अयप्पा मंदिर अनिश्चित काल तक के लिए बंद कर दिया गया है। मंदिर खुलने की सूचना बाद प्रेस के माध्यम से दी जाएगी। वहीं जगन्नाथ मंदिर के ट्रस्टी ने बताया कि लोगों को कोरोना से बचाव को ध्यान में रखते हुए अगले आदेश तक जगन्नाथ मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद किया गया है

22 को जनता कर्फ्यू में कीर्तन करेंगे आनंदमार्गी

कोरोनावायरस के प्रकोप को ले प्रधानमंत्री मोदी की ओर से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के आह्लान का आनंदमार्गियों ने स्वागत किया है। उस दिन देशव्यापी स्तर पर आनंदमार्गी अपने घरों में कीर्तन का आयोजन करेंगे। आनंदमार्ग के केंद्रीय धर्म प्रचार सचिव आचार्य सत्याश्रयानंद अवधूत ने शुक्रवार को प्रात: कालीन पांचजन्य कार्यक्रम के बाद उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न प्रांतों में आनंद मार्ग के लाखों साधक 22 मार्च 2020 को शाम 5.00 बजे से 5 बजकर 15 मिनट तक अपने-अपने घरों में ताली, थाली या अन्य वाद्ययंत्र, जैसे- मृदंग, ढोलक, झाल, नाल के ताल पर बाबा नाम केवलम् कीर्तन गाकर उन मानवता प्रेमियों एवं अनेक जागरूक प्रहरी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करेंगे। समवेत रूप से जब भक्तगण कृतज्ञता के भाव में डूब कर कीर्तन गाएंगे, तो निश्चय ही पॉजिटिव माइक्रोवाइटा (धनात्मक तरंगें) निकलकर पूरे विश्व को स्पंदित कर, एक नई उर्जा प्रदान कर, मानवता को प्रगति के पथ पर चला देगा।

22 को बंद रहेंगी चास-बोकारो की जेवर दुकानें

बोकारो: कोरोना महामारी को देखते हुए आगामी 22 मार्च को चास-बोकारो की जेवर दुकानें बंद रहेंगी। बोकारो ज्वेलरी एसोसिएशन की ओर से प्रेस को जारी एक सूचना में इस आशय की जानकारी दी गई है। एसोसिएशन के सियाराम, लड्डू आदि व्यवसायियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से जनता कर्फ्यू के आह्वान का स्वागत करते हुए इसमें साथ देने की अपील की है। कहा कि भारत सरकार की ओर से जारी किए गए एहतियाती उपायों को सफल बनाने में आमलोग भी हाथ बंटाएं।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)