Wed. May 27th, 2020

गांधीजी के नाम पर गलतबयानी से परहेज करें कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष: भाजपा

रांची : भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव के उस बयान पर पलटवार किया है जिसमें उन्होंने भाजपा वालों को नसीहत दी थी कि वे महात्मा गांधी की जीवनी का अध्ययन करके कुछ बोलें।

प्रतुल ने कहा कि अभी 2 दिन पहले ही कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव का बहुसंख्यक समाज को आहत करने वाला बयान आया था कि महात्मा गांधी ने लोगों को मंदिरों में जाने से मना किया था क्योंकि मंदिर में भगवान नहीं कूड़ा – कचरा रहता है।

इसके लिए उन्होंने एक विवादास्पद लेखक प्रमोद कपूर की किताब का उल्लेख किया था। प्रतुल ने कहा कि अगर रामेश्वर उरांव इस पुस्तक को महात्मा गांधी के जीवन को दिखाने वाला आदर्श पुस्तक मानते हैं तो यह बेहद खेदपूर्ण है।

क्योंकि इस पुस्तक में लेखक ने महात्मा गांधी के बारे में अनेक आपत्तिजनक बातें लिखी हैं। प्रमोद कपूर ने एक जगह गलतबयानी करते हुए दुर्भावना से प्रेरित होकर यह भी लिखा है कि महात्मा गांधी तानाशाह प्रवृत्ति के व्यक्ति थे।

कपूर ने एक दूसरे जगह शर्मनाक तरीके से उल्लेख किया है कि महात्मा गांधी अपने परिजनों पर हाथ उठाया करते थे। यह बहुत ही शर्मनाक बात है कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष महात्मा गांधी की जीवनी को प्रमोद कपूर जैसे लेखकों की किताब से उल्लेखित कर रहे हैं।

जबकि आदर्श रूप से उन्हें महात्मा गांधी के द्वारा खुद से लिखे गए पुस्तक सत्य के साथ प्रयोग को पढ़ना चाहिए था। प्रतुल ने कहा कि असल में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने पूरे कांग्रेस पार्टी की बहुसंख्यक समाज के प्रति अपनी सोच को उजागर कर दिया है।

चारों ओर से निंदा होने पर अब वह इसे कवरअप करने के लिए बात को दूसरी दिशा में ले जाना चाह रहे हैं। प्रतुल ने कहा कि जनता पूरे प्रकरण को गौर से देख रही है और महात्मा गांधी के नाम पर गलत बयानी करने वाली पार्टी को उचित समय पर माकूल जवाब देगी।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)