April 23, 2021

Desh Pran

Hindi Daily

हाथरस मामले में कांग्रेस ने सीएम योगी से मांगा इस्तीफा

1 min read

कहा, सीबीआई की चार्जशीट ने उप्र सरकार की रहस्यमयी भूमिका से पर्दा उठाया
योगी को नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के हाथरस मामले में सीबीआई चार्जशीट में लड़की से दरिंदगी के बाद हत्या की बात साबित होने पर कांग्रेस ने भाजपा सरकार को निशाने पर लिया है। उसका कहना है कि सीबीआई चार्जशीट से पूरे मामले में योगी आदित्यनाथ सरकार की रहस्यमयी भूमिका से पर्दा उठा दिया है। ऐसे में कांग्रेस पार्टी मांग करती है कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होने के साथ मुख्यमंत्री आदित्यनाथ को नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए।

कांग्रेस प्रवक्ता शमा मोहम्मद ने रविवार को पार्टी मुख्यालय में आयोजित पत्रकारवार्ता में कहा कि हाथरस मामले में राज्य सरकार तथा पुलिस प्रशासन की मिलीभगत का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि सरकार ने जांच को भटकाने की कोशिश की। आरोपितों को बचाने की कोशिश के साथ पीड़ित लड़की के परिवार को न्याय से वंचित रखा गया।

शमा मोहम्मद ने कहा कि पिछले 73 वर्षों के आजाद भारत के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि पीड़ित लड़की को उसकी मृत्यु के बाद भी बदनाम किया गया। उसके चरित्र पर प्रश्न उठाए गए। पीड़ित लड़की के परिवार वालों को बदनाम किया गया, धमकाया गया। यहां तक कि इस घटना को जातीय हिंसा बताकर दबाने की भी कोशिश की गई। पूरी भाजपा सरकार, प्रशासन और नेताओं ने मिलकर इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर पर्दा डालने की कोशिश की। उस पर मीडिया को भी पीड़ित परिवार से मिलने से रोका गया।

कांग्रेस नेता ने कहा कि आज जब सत्य सामने है तो घटना की जिम्मेदारी तय हो और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले। पुलिस-प्रशासन के अधिकारी जो आरोपी हो उन्हें तत्काल निलंबित किया जाए और उनके खिलाफ जांच बिठाई जाए। इसके अलावा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए। साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी औऱ अन्य भाजपा नेताओं को देश से माफी भी मांगनी चाहिए।

उल्लेखनीय है कि 14 सितंबर को हाथरस में दलित लड़की के साथ कुछ युवकों ने दरिंदगी की थी। गंभीर हालत में लड़की को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां 29 सितंबर को उसकी मौत हो गई।

मौत के बाद पुलिस ने रात में ही पीड़ित का शव गांव ले जाकर परिवार की गैरमौजूदगी में अंतिम संस्कार कर दिया था। इसे लेकर जब हंगामा हुआ तो उत्तर प्रदेश सरकार ने घटना की सीबीआई जांच की सिफारिश की। अब सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में चारों आरोपितों पर गैंगरेप और हत्या का आरोप लगाया है।

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)