Thu. Oct 29th, 2020

कांग्रेस 62 करोड़ किसान, मजदूर पर हुए इस क्रूर हमले को चुप बैठ कर नहीं देख सकती : आरपीएन सिंह

रांची : कृषि बिल के विरोध में अखिल भारतीय कांग्रेस के आह्वान पर देशव्यापी आंदोलनात्मक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए रविवार को प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह रांची पहुंचे। वह बिरसा मुंडा एयरपोर्ट से सीधे राजकीय अतिथिशाला मोरहाबादी पहुंचे। वहां मौजूद पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि वर्तमान की मोदी सरकार ने तीन काले कानूनों के जरिये किसान, खेत, मजदूर, छोटे दुकानदार, मंडी मजदूर व छोटे कर्मचारियों की आजीविका पर सीधा हमला बोला है। कांग्रेस पार्टी उन 62 करोड़ किसान मजदूर पर हुए इस क्रूर हमले को चुप बैठ कर नहीं देख सकती । उन्होंने कहा कि देशव्यापी आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए वो झारखण्ड आये हैं ।

स्थानीय राजकीय अतिथिशाला मोरहाबादी में उन्होंने सभी मंत्रियों विधायकों व संगठन के पदाधिकारियों से एक एक कर अलग से बंद कमरे में मुलाकात की।सरकार और संगठन की जानकारी ली। सबसे पहले उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उराँव और नेता विधायक दल आलमगीर आलम , स्वास्थ मंत्री बन्ना गुप्ता, कृषि मंत्री बादल पत्रलेख से मिलकर विधानसभा सभा चुनाव के दौरान जनता से किये गए वायदों के ऊपर सरकार के स्तर पर अब तक उठाये गए कदमों की जानकारी ली।

साथ ही साथ विभागवार कोरोना संक्रमण काल में जनहित में लिए गए निर्णयों तथा जनकल्याणकारी योजनाओं के अधतन स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने विधायक रामचंद्र सिंह, प्रदीप यादव, भूषण बाड़ा, दीपिका पांडेय सिंह, बंधु तिर्की, अम्बा प्रसाद, विकसल कोंगाड़ी, पूर्णिमा नीरज सिंह, प्रदेश पदाधिकारी कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश, राजेश ठाकुर, मानस सिन्हा, जोनल को ऑर्डिनेटर रमा खलखो प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद, संगठन प्रभारी रविन्द्र सिंह आदि से मुलाकात की सरकार के क्रियाकलापों व संगठन के गतिविधियों की विस्तृत जानकारी ली।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)