Sat. Oct 31st, 2020

चीन में खाद्य संकट के डर से ‘क्लीन प्लेट’ का अभियान

Chinese President Xi Jinping in Wuhan

नयी दिल्ली : चीन ने खाद्य पदार्थों की बर्बादी रोकने का अभियान शुरू कर दिया है। इस अभियान का आह्वान खुद राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने किया है। जिनपिंग ने कहा है कि चीन में जिस तरह से खाने की बर्बादी हो रही है, वह उनके लिए परेशानी और हैरानी की बात है।

राष्ट्रपति के इस आह्वान के बाद चीन ने ‘क्लीन प्लेट’ का नारा दिया है। यही नहीं होटलों को भी कह दिया गया है कि वे खाने के आर्डर में कम चीजें रखें।चीन ने यह नया आदेश खाद्य सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जारी किया है। राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने खुद कहा कि हमें खाद्य सुरक्षा संकट काल जैसा व्यवहार करना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि चीन में पहले कोरोना और बाढ़ की स्थिति होने के कारण वहां खेती की उपज कम होने और विश्व में कई देशों द्वारा खाद्यान्न के निर्यात पर रोक लगाने के कारण खाद्य सुरक्षा पर गंभीर खतरा उत्पन्न हो गया है। चीन के लोगों में भी खाद्य सुरक्षा को लेकर डर पैदा हो गया है और वहां इस तरह के कई वीडियो सामने आए हैं। चीन कम्युनिस्ट पार्टी के अखबार ग्लोबल टाइम्स ने चीन में खाद्य सुरक्षा को लेकर चल रहे अभियान को गलत बताया है और यह दावा किया है कि अभी चीन खाद्यान्न के मामले में संकट में नहीं आया है।

पर जिस तरह का माहौल चीन में इस समय बन रहा है उससे तो लगता है कि वाकई वहां खाद्यान्न को लेकर शी जिनपिंग की सरकार चिंतित है। वुहान कैटरिंग इंडस्ट्री एसोसिएशन ने सभी होटलों को आग्रह किया है कि वे अपने मैन्यू में खाने के आइटम कम करें। यदि 10 लोग खाना खाने रेस्त्रां में आते हैं तो उन्हें 9 लोगों के खाने के बराबर ही खाना दें। चीन में पहली बार इस तरह का कोई आदेश आया है जहां खाना बचाने के लिए लोगों से कहा जा रहा है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)