Wed. May 27th, 2020

स्वच्छता अभियान को झारखंड में सीसीएल देगी नयी ऊर्जा

1 min read

 राज्य के 200 रेलवे स्टेशनों पर बनेंगे शौचालय
 दक्षिण पूर्व रेलवे और राइट्स के साथ हुआ त्रिपक्षीय समझौता
 लगभग 44 करोड़ रुपये की लागत से बनेंगे शौचालय
 कंपनी ने 4 राज्यों में लगभग 12,000 शौचालय बनाये हैं

रांची : स्वच्छता अभियान को झारखंड में एक नई उर्जा एवं गति देने के लिए सीसीएल झारखंड के लगभग सभी 200 रेलवे स्टेशनों पर शौचालय बनाने के लिए दक्षिण पूर्व रेलवे और राइट्स के साथ त्रिपक्षीय समझौता किया है।

इस समझौते के अतंर्गत प्रत्येक शौचालय ब्लॉक में सात शौचालय रहेंगे, जिसमें महिलाओं के लिए तीन, पुरुषों के लिए तीन और दिव्यांगों के लिए एक का निर्माण किया जायेगा।

सीसीएल की ओर से महाप्रबंधक (सीएसआर) एके सिंह, महाप्रबंधक, राइट्स पीआर कुमार तथा दक्षिण पूर्व रेलवे के योजना और डिजाइन इंजीनियर अभिजीत राय ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये। ये सभी शौचालय लगभग 44 करोड़ रुपये के लागत से बनाए जायेंगे।

सीएमडी सीसीएल गोपाल सिंह के नेतृत्व में राज्य के दूरस्थ एवं कठिन क्षेत्रों के साथ-साथ वन क्षेत्रों में स्थित इन रेलवे स्टेशनों पर शौचालय निर्माण की यह पहल की गयी है। कंपनी द्वारा सामाजिक परिवर्तन के लिए पिछले कुछ वर्षों में शुरू की गई कई परियोजनाओं में यह एक नया अध्याय जोड़ा गया है।

सीएमडी के अनुसार रेलवे मंत्री पीयूष गोयल के मार्गदर्शन में रेल मंत्रालय ने सभी प्रमुख स्टेशनों का सौंदर्यीकरण, आधुनिकीकरण और स्वच्छ परिसर के साथ जो कायापलट की जा रही है, इस समझौता ज्ञापन से इस पहल को भी गति मिलेगी।

सीसीएल ने स्वच्छता अभियान में अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हुए राष्ट्र को खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) बनाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कंपनी ने 4 राज्यों यानि झारखंड, उड़ीसा, बिहार और उत्तर प्रदेश में लगभग 12,000 शौचालय बनाये हैं।

साथ ही विगत कुछ वर्षों में कंपनी ने झारखंड के आठ जिलों में खेल, शिक्षा, स्वास्थ्य, कौशल विकास, पेयजल आदि के क्षेत्र में कल्याणकारी योजनाओं की एक श्रृंखला शुरू की है, जिसे कायाकल्प योजना के नाम से प्रसिद्ध है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)