Sat. Jan 16th, 2021

आन्ध्र, तमिलनाडु में चक्रवती तूफान पर कैबिनेट सचिव ने की समीक्षा

नई दिल्ली : कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुडुचेरी के मुख्य सचिवों के साथ आगामी चक्रवात की स्थिति की समीक्षा के लिए अपनी अध्यक्षता में सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) की बैठक की।

आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुदुचेरी के मुख्य सचिवों ने एनसीएमसी को उनकी तैयारियों के बारे में जानकारी दी और उल्लेख किया कि अधिकारी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। उन्होंने इस चुनौती को पूरा करने के लिए एनडीआरएफ और अन्य एजेंसियों के साथ समन्वय की भी जानकारी दी।

मौसम विभाग के महानिदेशक ने वर्तमान स्थिति पर प्रस्तुति दी और उल्लेख किया कि संबंधित राज्य सरकारों के साथ स्थिति से जुड़ी जानकारी साझा की जा रही है। उन्होंने उल्लेख किया कि चक्रवात 24 से 26 नवंबर के बीच आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटीय क्षेत्रों को प्रभावित करेगा।

कैबिनेट सचिव ने कहा कि सरकार की मंशा जनहानि को रोकना और प्रभावित क्षेत्रों में सामान्य स्थिति की जल्द बहाली करना है। उन्होंने कहा कि मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह को सख्ती से लागू किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि ‘कच्चे घरों’ में रहने वाले लोगों को स्थिति के अनुसार उपयुक्त सलाह दी जाए।

गृह, ऊर्जा, दूरसंचार, नागरिक उड्डयन, जहाजरानी, ​​स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और एनडीएमए के सदस्य सचिव, एनडीआरएफ महानिदेशक और रक्षा मंत्रालय के प्रतिनिधियों ने एनसीएमसी को संबंधित राज्यों की व्यवस्था और सहायता कार्यों की जानकारी दी।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)