Sat. Jan 25th, 2020

अंतरराष्ट्रीय मानक का पर्यावरण अनुकूल ईंधन उत्पादन कर रही बरौनी रिफाइनरी

1 min read

स्थापना दिवस पर विकास व औद्योगिक शांति का लिया गया संकल्प
रिफाइनरी के निर्माण व प्रगति में योगदान देने वालों को दी गई श्रदांजलि

बेगूसराय : बरौनी रिफाइनरी का 55वां स्थापना दिवस समारोह बुधवार को धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर कार्यपालक निदेशक एवं रिफाइनरी प्रमुख शुक्ला मिस्त्री ने रिफाइनरी के अधिकारियों और कर्मचारियों को रिफाइनरी के सतत विकास के लिए सत्यनिष्ठा, आपसी सद्भाव, परस्पर सम्मान करते हुए औद्योगिक शांति बनाए रखने की शपथ दिलाई। उन्होंने आने वाले वर्षों में रिफाइनरी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाने के लिए उत्पादकता में बढ़ोत्तरी के साथ-साथ गुणवत्ता और पर्यावरण प्रबंधन प्रणाली को और मजबूत करने और पानी, ऊर्जा और पेट्रोलियम उत्पादों की अधिकतम बचत करते हुए रिफाइनरी के लाभांश वृद्धि के लिए कार्य करने के लिए सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों का आह्वान किया।

इस अवसर पर कार्यपालक निदेशक एवं रिफाइनरी प्रमुख शुक्ला मिस्त्री, मुख्य महाप्रबंधक (मानव संसाधन) मानस बरा, मुख्य महाप्रबंधक (टीएस एवं एचएसई) आरके झा, सीआईएसएफ के उप समादेष्टा एके सिंह, बीटीएमयू के कार्यकारी अध्यक्ष संजीव कुमार, बीटीएमयू के मिथिलेश कुमार, आईओओए के प्रवीण कुमार, कॉपोर्रेट संचार प्रबंधक अंकिता श्रीवास्तव, हिंदी अधिकारी शरद कुमार समेत बड़ी संख्या में रिफाइनरी के अधिकारी एवं कर्मचारियों ने बरौनी रिफाइनरी के निर्माण और उसकी प्रगति में योगदान देने वाले पथ प्रदर्शकों को याद करते हुए स्थापना स्थल पर पुष्पांजलि अर्पित की।

इसके बाद मुख्य महाप्रबंधक (टीएस एवं एचएसई) आरके झा ने बरौनी रिफाइनरी दिवस पर निदेशक (रिफाइनरीज) एसएम वैद्य का संदेश पढ़ा। कार्यपालक निदेशक शुक्ला मिस्त्री ने कहा कि एक मिलीयन मेट्रीक टन प्रति वर्ष (की क्षमता के साथ 15 जनवरी 1965 को इसे राष्ट्र को समर्पित किया गया था। सेकेंड्री प्रोसेसिंग सुविधाओं को पूरा करने के लिए रेसिड्यू फ्लूडाइज्ड कैटलिटिक क्रैकर यूनिट (आरएफसीसी), डीजल हाइड्रोट्रीटिंग यूनिट (डीएचडीटी), सल्फर रिकवरी यूनिट (एसआरयू) कमीशन की गई है। इन आधुनिकतम पर्यावरण अनुकूल तकनीकों ने रिफाइनरी को अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार पर्यावरण अनुकूल हरित ईंधन के उत्पादन में सक्षम बनाया है।

कई आधुनिकीकरण और विस्तार परियोजनाओं के माध्यम से हाई सल्फर क्रूड प्रोसेस करने में सक्षम बनाया गया है। वर्तमान में बरौनी रिफाइनरी लो सल्फर और हाई सल्फर, दोनों प्रकार के क्रूड को प्रोसेस करने में सक्षम है। रिफाइनरी का विस्तारीकरण कार्य प्रारम्भ है तथा विस्तारीकरण के साथ बिहार के पहले पेट्रोकेमिकल यूनिट की स्थापना की जाएगी। यूनिटों के आधुनिकीकरण के द्वारा बीएस-सिक्स मानक के पेट्रोल एवं डीजल का उत्पादन शुरू हो गया है। पर्यावरण के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को सुदृढ़ करने के लिए आरओ प्लांट एवं सोलर पार्क की स्थापना की जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)