Wed. Sep 30th, 2020

अमित शाह ने दिल्ली चुनाव में हार की ली जिम्मेवारी, कहा – आक्रामक बयानों से दिल्ली में भाजपा को हुआ नुकसान

1 min read

नयी दिल्ली : केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की करारी हार की जिम्मेदारी लेते हुए आज स्वीकार किया कि उनका आकलन गलत साबित हुआ और पार्टी के युवा नेताओं को आक्रामक बयान नहीं देने चाहिए थे।

गृह मंत्री ने यह भी कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव का परिणाम नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) का जनादेश नहीं है। शाह ने यहां एक टेलीविजन चैनल द्वारा आयोजित एक संवाद कार्यक्रम में कहा, मैं दिल्ली में हार स्वीकार करता हूं। मेरा आकलन गलत हो गया। हम चुनाव सिर्फ जीत या हार के लिए नहीं लड़ते हैं। भाजपा एक ऐसी पार्टी है, जो अपनी विचारधारा का विस्तार करने में विश्वास करती है।

कार्यक्रम में प्रस्तोता द्वारा दिल्ली के चुनाव प्रचार के दौरान केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकर और सांसद प्रवेश वर्मा द्वारा दिए विवादित बयान के बारे में पूछे एक सवाल पर शाह ने स्वीकार किया कि ‘देश के गद्दारों को…’ और ‘भारत-पाकिस्तान मैच’ जैसे बयान नहीं दिए जाने चाहिए थे। पार्टी को संभवत: इस प्रकार के बयानों से नुकसान हुआ है।

अन्य राज्यों के चुनाव परिणामों पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अभी कुछ ही समय पहले सबसे बड़े बहुमत के साथ विजयी रहे। अब यह सही बात है कि कुछ राज्यों में सफलता नहीं मिली लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि भाजपा से लोगों का विश्वास उठा है। महाराष्ट्र में हम चुनाव जीते हैं। हरियाणा में केवल 6 सीटें कम हुईं हैं। झारखंड में हम चुनाव हारे और दिल्ली में पहले से हारे हुए थे बावजूद इसके सीट और वोट प्रतिशत बढ़ा है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)