Wed. May 27th, 2020

आजसू का विधानसभा स्तरीय चूल्हा प्रमुख सम्मेलन 11 अक्टूबर को

1 min read

इस माह के तीसरे सप्ताह आयोजित होगी सामाजिक न्याय संकल्प रैली

रांची : आजसू पार्टी विधानसभा चुनाव की तैयारी को लेकर विधानसभावार चयनित चूल्हा प्रमुखों का विधानसभा स्तरीय चूल्हा प्रमुख सम्मेलन 11 अक्टूबर से प्रारंभ करेगी। यह 30 अक्टूबर तक चलेगा।

सभी विधानसभा क्षेत्रों में एक-एक कॉल सेंटर स्थापित किया जाएगा। जिसके द्वारा चूल्हा प्रमुखों एवं चूल्हा परिवारों के बीच समन्वय एवं संबंध स्थापित किये जाएंगे। पार्टी परिवार के साथ सिर्फ राजनीतिक संबंध ही नहीं, बल्कि पारिवारिक सुख-दुख का जीवन्त संबंध बनाना चाहती है।

पार्टी झारखंड के बहुसंख्यक आबादी के हक के लिए लड़ती रही है। सामाजिक न्याय की लड़ाई को राजनीतिक ताकत की जरूरत है। जिसकी जितनी आबादी, उसकी उतनी भागीदारी।

पार्टी का यह सिर्फ नारा नहीं है, बल्कि विचारधारा है। पार्टी पिछड़ों के लिए 27 प्रतिशत, अनुसूचित जनजाति के लिए 32 प्रतिशत तथा अनुसूचित जाति के लिए 14 प्रतिशत को लेकर वर्ष 2001 से ही मुखर रही है।

इसको लेकर राज्य की राजधानी रांची में अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में सामाजिक न्याय संकल्प रैली अखिल झारखंड पिछड़ा वर्ग महासभा, अखिल झारखंड अनुसूचित जाति महासभा, अखिल झारखंड अनुसूचित जनजाति महासभा के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित करेगी।

पार्टी अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो का मानना है कि सभी विधानसभा में बनाए गए चूल्हा प्रमुख परिवार की आवश्यकता एवं सरकार के कल्याणकारी योजनाओं, कार्यक्रमों के साथ हर परिवार को जोडें।

चूल्हा प्रमुख यह सुनिश्चित करें कि हर चूल्हा जले। पार्टी राज्य के आदिवासियों एवं मूलवासियों के अधिकार को लेकर सड़क से लेकर सदन तक मुखर रही है। जन की बात जन परिचय सभा, जनसंवाद, पिछड़ा प्रतिनिधि सम्मेलन, स्वराज्य स्वाभिमान यात्रा कार्यक्रम चलाकर जनता के मुद्दों, मसलों को नजदीक से जानने का प्रयास हुआ है।

आज सामाजिक न्याय की लड़ाई को राजनीतिक ताकत की जरूरत है। जिसकी जितनी आबादी, उसकी उतनी भागीदारी। पार्टी का यह सिर्फ नारा नहीं है, बल्कि विचारधारा है।

अलग राज्य के संघर्ष के आकांक्षाओं को मंजिल तक पहुंचाना पार्टी का लक्ष्य है। पार्टी जनता के विषयों को सुलझाने में विश्वास करती है। यही कारण है कि आज जनता की उम्मीदें पार्टी से बढ़ी हैं। अब जनादेश का समय है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)