मुख्य बातें

Jahangirpuri : दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में आज एमसीडी का अतिक्रमण हटाओ अभियान सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद रूक गया. इससे पहले एमसीडी ने आज सुबह से अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाया, जिसमें कई दुकान, मंदिर और मस्जिद के हिस्से भी तोड़े गये.

लाइव अपडेट

गुल्ली और दिलशाद को तीन दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा गया

दिल्ली के जहांगीरपुरी हिंसा मामले के आरोपी गुल्ली और दिलशाद को कोर्ट ने तीन दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया है. आज पहली बार उन्हें कोर्ट में पेश किया गया था. जहांगीरपुरी हिंसा मामले के एक आरोपी के वकील राजेश कौशिक ने यह जानकारी दी.
 

जहांगीरपुरी में मस्जिद के आगे से 12 से अधिक अवैध दुकानें तोड़ी गईं

एमसीडी ने जहांगीरपुरी में जामा मस्जिद के सामने से तकरीबन 12 अवैध बनाई गईं दुकानों को तोड़ दिया गया है. दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त ने यह साफ कर दिया है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अतिक्रमण हटाओ अभियान बंद कर दिया गया है. वहीं, उत्तरी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त ने मीडिया को बताया है कि जहांगीरपुरी के जिस इलाके में आज बुधवार को तोड़फोड़ की कार्रवाई की गई है, वहां पर पिछले 11 अप्रैल को भी अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई थी. उन्होंने कहा कि आज की कार्रवाई उसका एक हिस्सा है और यह रुटिन की कार्रवाई है. यह महज संयोग ही है कि 16 अप्रैल की हिंसा के बाद का समय बीच में आ गया है, लेकिन नगर निगम ने इलाके से अवैध निर्माण हटाने की योजना पहले ही बना ली थी.
 

जहांगीरपुरी में तोड़फोड़ पर लगी रोक, माकपा नेता वृंदा करात ने की शांति बनाए रखने की अपील

माकपा नेता वृंदा करात ने मीडिया को बताया कि जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाओ अभियान रोक दिया गया है. मैं जहांगीरपुर के लोगों से शांति और सद्भाव बनाए रखने और सुप्रीम कोर्ट के अगले आदेश की प्रतीक्षा करने की अपील करती हूं. उन्होंने कहा कि तोड़फोड़ संविधान के खिलाफ था. उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त ने मुझे आश्वासन दिया है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब कोई तोड़फोड़ नहीं होगा. उधर, दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त दीपेंद्र पाठक ने कहा कि हमलोगों के पास सुप्रीम कोर्ट का आदेश पहुंच गया है. एमसीडी के अधिकारियों के पास भी आदेश पहुंच गया है. कोर्ट के आदेश के बाद तोड़फोड़ की कार्रवाई रोक दी गई है. अब कोर्ट के अगले आदेश के बाद ही कोई कार्रवाई शुरू की जाएगी.