कोरोना, रूस-यूक्रेन जंग, महंगाई जैसे मुद्दों ने दुनिया भर की इकोनॉमी पर असर डाला है। साल 2022 दुनिया भर के अरबपतियों के लिए उतार-चढ़ाव भरा रहा। एक ओर जहां दुनिया के बिलेयनेयर्स की नेटवर्थ को 83% तक का नुकसान हुआ तो वहीं भारतीय अरबपतियों ने अपनी करीब 98% संपत्ति सुरक्षित रखी है।

साथ ही इस साल गौतम अडाणी की नेटवर्थ दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ी है। उनकी रफ्तार के सामने एलन मस्क और जेफ बेजोस जैसे बिलेनियर्स भी फीके पड़ गए हैं। इसका खुलासा ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इंडेक्स की हालिया रिपोर्ट में हुआ है।