बीते दिन निवेशकों के साथ बैठक में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कई बातें कहीं. इस दौरान उन्होंने एक पुराना वाक्या भी शेयर किया. नितिन गडकरी ने बताया कि कैसे उन्होंने रिलायंस के एक टेंडर को खारिज कर दो हजार करोड़ रुपये बचाए थे. गडकरी ने बताया की मामला 1995 का है. जब महाराष्ट्र में शिवसेना बीजेपी गठबंधन की सरकार थी. उस वक्त गडकरी पीडब्ल्यूडी मंत्री थे.