Fri. Sep 25th, 2020

केरल भूस्खलन में अभी तक 54 लोगों की मौत

1 min read

इडुक्की : केरल के इडुक्की जिले में भूस्खलन के कारण मरने वालों की संख्या बुधवार को बढ़कर 54 हो गई है। बुधवार को दो और लोगों के शव मिले हैं। इडुक्की में अधिकारियों ने बताया कि हादसे के बाद से 16 लोग अभी भी लापता हैं। राजामाला के निकट एनडीआरएफ, अग्निशमन और पुलिस विभाग के कर्मी लापता लोगों की तलाश में जुटे हैं। ये लोग सात अगस्त से लापता है। केरल के कई हिस्सों में भारी बारिश के कारण राज्य के निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है।

वहीं, अलपुझा जिले के चुंगाम कुरुवेली पदसेखरम इलाके में बांध टूट जाने से 151 साल पुराना सेंट पॉल सीएसआइ चर्च ध्वस्त हो गया। धान के खेतों के बीच स्थित होने के कारण चर्च में पानी घुसा हुआ था। यही कारण है कि बांध टूट जाने के बाद यह ध्वस्त हो गया। इस घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है। अधिकारियों ने पहले ही बांध टूटने की आशंका जताते हुए चेतावनी दे दी थी। इलाके के स्थानीय निवासी इलाके से सुरक्षित स्थानों पर जा चुके थे।

शुक्रवार को भारी बारिश के कारण इडुक्की जिले के राजामलाई में भूस्खलन हुआ। इस दौरान 15 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया और 60 लोग मलबे में दब गए थे। भूस्खलन वाले इस पर्वतीय क्षेत्र में ज्यादातर टी-एस्टेट में काम करने वाले श्रमिक रहते हैं। बताया जाता है कि भूस्खलन की यह घटना सुबह के वक्त हुई जब धरती का एक बड़ा टुकड़ा पहाड़ से कटकर कतारबद्ध घरों पर गिर गया जिससे घरों में सो रहे लोगों की मौत हो गई। चाय बागान में काम करने वाले ज्यादातर लोग नजदीकी राज्य तमिलनाडु के रहने वाले लोग थे।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)