Sun. Oct 25th, 2020

वज्रपात में 2 व्यक्ति की मौत, 5 लोग झुलसे, 1 गंभीर

1 min read

मेदिनीनगर : गुरुवार को दोपहर के बाद हुई बूंदाबूंदी के बीच वज्रपात ने छतरपुर-नौडीहा क्षेत्र में कोहराम मचाकर रख दिया है। छतरपुर थाना क्षेत्र में दो अलग-अलग घटनाओं में 6 मवेशियों और एक व्यक्ति की मौत हो गयी।

वहीं नौडीहा थानाक्षेत्र में हुई वज्रपात की घटना में 2 लोगों की मौत हो गयी है और एक व्यक्ति गंभीर है जिसे पीएमसीएच मेदिनीनगर रेफर किया गया है। 5 लोग वज्रपात से बुरी तरह झुलस गये हैं। अन्य पांच घायलों को छतरपुर अनुमंडलीय अस्पताल में लाने की तैयारी हो रही है।

वज्रपात से छतरपुर के हुलसम गांव में चार मवेशियों के मरने की पहली खबर आयी। ये मवेशी गांव के समीप ही एक पेड़ के नीचे थे। पेड़ पर वज्रपात हुआ और हुलसम के बलराम सिंह पिता केश्वर सिंह का एक गाय और एक बैल, जनेश्वर सिंह पिता रोहनी सिंह की दो गाय, भीम सिंह की एक गाय और हृदय सिंह पिता कुलदीप सिंह का बैल मर गया।

इसके बाद छतरपुर से ही दूसरी खबर आयी। पिंडराही पंचायत के मुखिया वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि पिंडराही गांव के 46 वर्षीय पहलाद सिंह गांव की पगडंडी से होकर बाजार जा रहे थे कि रास्ते में ही ठनका उनके उपर गिर गया और वहीं पर उनकी मौत हो गयी।

तीसरी घटना नौडीहा बाजार थानाक्षेत्र में बिचलाडीह आहर के पास हुई है। बारिश आयी तो खेत में काम कर रहे और जानवर चरा रहे लोग महुआ के पेड़ के नीचे जमा हो गये। महुआ के पेड़ पर वज्रपात हुई और बिचलाडीह गांव के अर्जुन भुइयां (30 वर्ष), रामजी भुइयां (45 वर्ष), ललन भुइयां (20 वर्ष), सोनू कुमार (12 वर्ष), शक्ति पासवान (25 वर्ष), पवन सिंह (26 वर्ष) तथा महिपता गांव (छतरपुर) के महेश साव बुरी तरह घायल हो गये।

सभी घायलों को नौडीहा बाजार के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां से अर्जुन भुइयां और रामजी भुइयां को गंभीर देखते हुए छतरपुर अनुमंडलीय अस्पताल भेजा गया। अर्जुन भुइयां की रास्ते में ही मौत हो गयी। रामजी को प्राथमिक चिकित्सा के बाद मेदिनीनगर भेज दिया गया है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)