रांची

तीनवर्षों में बाघों के लिए 1010 करोड़

वनमंत्री ने व्याघ्र आरक्ष्य के संबंध में राज्यसभा में दी जानकारी

10.07.2019

रांची: केन्द्रीय प्रायोजित स्कीम-वन्यजीव वास-स्थलों का समेकित विकास (सीएसएस-आईडीडबल्यूएच) के तहत केन्द्र सरकार ने बाघों के लिए 1010.69 करोड रुपये, हाथियों के लिए 75.86 करोड़ रुपये और एशियाई शेरों के लिए 23.16 करोड़ रुपये की निधि प्रदान की है। केन्द्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो ने राज्यसभा में सांसद परिमल नथवाणी द्वारा पूछे गए प्रश्न के उत्तर में यह जानकारी दी।

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री ने बताया कि केन्द्र ने सीएसएस बाघ परियोजना के तहत वर्ष 2016-17, 2017-18 और 2018-19 में अनुक्रमित रूप से 342.25 करोड़, 345 करोड़ और 232.44 करोड़ की निधि प्रदान की है। उसी रूप से, सीएसएस-हाथी परियोजना के तहत इसी समय में 21.20 करोड, 24.90 करोड़ और 29.76 करोड़ की निधि प्रदान कि है। पिछले तीन सालों में केन्द्र ने सीएसएस-आइडीडबल्यूएच के तहत एशियाइ शेरों के लिए 1.09 करोड़, 2.24 करोड़ और 9.83 करोड की निधि प्रदान की है।

परिमल नथवाणी ने तीन वर्षों में सरकार द्वार बाघों और हाथियों की तुलना में एशियाई शेरों के संरक्षण हेतु आवंटित और जारी किए गए बजट और सरकार शेरों और हाथियों के लए आधुनिक और विश्व स्तरीय नैदानिक सुविधाएं शुरू करने पर विचार कर रही है कि नहीं उसके बारे में जानकारी मांगी थी।