नयी बिजली दर निर्धारण के लिए आयोग ने फिर मांगी जेबीवीएनएल से जानकारी, मार्च तक घोषणा संभव

1 min read

Ranchi : राज्य विद्युत नियामक आयोग की ओर से जल्द राज्य में नयी बिजली दरें घोषित की जायेंगी. इसके लिए नियामक आयोग ने जेबीवीएनएल से फिर से कुछ बिंदुओं पर आपत्ति और सुझाव की मांग की है. वहीं कुछ अन्य जानकारी भी मांगी गयी है. नियामक आयोग की मानें तो जानकारियां जनसुनवाई के दौरान उठे बिंदुओं के आधार पर मांगी गयी हैं. इनमें से कुछ जानकारियां जेबीवीएनएल की ओर से आयोग को उपलब्ध करायी गयी हैं. जबकि कुछ का इंतजार नियामक आयोग को है. जेबीवीएनएल की ओर से इन बिंदुओं पर जवाब आने के बाद ही नियामक आयोग की ओर से सलाहकार समीति की बैठक आयोजित की जायेगी. इस बैठक पर जनसुनवाई के दौरान उठे मुद्दे और जेबीवीएनएल की ओर से दी गयी जानकारियों पर चर्चा की जाती है. इसके बाद ही राज्य में नयी बिजली दरें घोषित की जायेंगी.

लग सकता है मार्च तक समय

राज्य विद्युत नियामक आयोग की मानें तो नयी बिजली दरें घोषित होने से मार्च तक का समय लग सकता है. पूर्व में जेबीवीएनएल की ओर से कुछ जानकारियां उपलब्ध करायी गयी थीं. इसके बाद फिर से नियामक आयोग की ओर से अन्य बिंदुओं पर जानकारी मांगी गयी है. ऐसे में जेबीवीएनएल की ओर से इन बिंदुओं पर जानकारी मिलने के बाद ही नियामक आयोग बैठक आयोजित करेगा. जिसके बाद नयी बिजली दरें घोषित की जायेंगी. आयोग के अनुसार इसमें मार्च तक का समय लग सकता है. जानकारी हो कि दिसंबर में नियामक आयोग ने जनसुनवाई की प्रक्रिया पूरी कर ली थी. पिछले साल जून 2023 में नयी बिजली दरें घोषित की गयी थीं. अब फिर से आयोग नयी बिजली दरें घोषित करने वाला है.

कितनी वृद्धि प्रस्ताव

झारखंड बिजली वितरण निगम की ओर से नियामक आयोग को सौंपे प्रस्ताव की मानें तो घरेलू उपभोक्ताओं की बिजली दर प्रति यूनिट 2.30 रुपये बढ़ाने का प्रस्ताव है. वर्तमान में शहरी घरेलू उपभोक्ताओं की दर 6.30 रुपये प्रति यूनिट है. जिसे बढ़ा कर 8.60 रुपये यूनिट करने का प्रस्ताव है. फिक्स्ड चार्ज में भी भारी बढ़ोत्तरी का प्रस्ताव है. यह दर 400 यूनिट से अधिक खपत करनेवाले उपभोक्ताओं के लिए है. जबकि 400 यूनिट तक खपत करने वाले उपभोक्ताओं की दर 7.60 रुपये प्रति यूनिट करने का प्रस्ताव है. हालांकि वृद्धि दर नियामक आयोग निर्धारित करता है.

इसे भी पढ़ें – 

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours